यूपी की खस्ता-हाल स्वास्थ्य सुविधाओं को ठीक करने के लिए योगी ने कसे अफसरों के पेंच

डीएन ब्यूरो

यूपी में अस्तपालों की लापरवाही के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। जिससे लोगों की मृत्यु की संख्या भी बढ़ रही है। ऐसे में जरूरी है कि स्वास्थ्य और अस्पतालों की लापरवाही को कम करने के लिए कदम उठाए जाए। इस सिलसिले में सीएम योगी ने आज प्रदेश भर से आए सीएमओ और सीएमएस के संग बैठक की है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


लखनऊ: आज यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर से आए सीएमओ और सीएमएस संग बैठक की। इस बैठक में स्वास्थ्य सुविधाओं की समीक्षा की। बैठक में सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने पर सीएम ने जोर दिया है। इस दौरान प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री, ग्राम विकास मंत्री समेत मुख्य सचिव प्रमुख सचिव स्वास्थ्य जैसे अफसर भी मौजूद रहें।

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव पहुंचे एटा, यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव के परिजनों से की गमगीन माहौल में मुलाकात

 

यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर सीएम ने प्रदेश भर के सीएमओ और सीएमएस की बैठक ली। इस बैठक में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, ग्राम विकास मंत्री महेंद्र सिंह और मंत्री स्वाती सिंह समेत मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य जैसे अफसर भी मौजूद रहे थें।

यह भी पढ़ें: महराजगंज पुलिस चौकी के पास पौने तीन लाख ले उड़े बदमाश, नींद में सोती रही पुलिस

 

मीडिया से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा की सीएम ने अफसरों से सख्त लहजे में कहा की इलाज और दवा के अभाव में कोई मौत न हो। साथ सरकारी अस्पतालों में इलाज और चेकअप के बेहतर इंतजाम सुनिश्चित किया जाएं। इसके साथ ही 108 एंबुलेंस सेवा का रिस्पांस टाईम ठीक किया जाए। जिससे एमरजेंसी में मरीज अस्पताल पंहुच कर स्वास्थ्य लाभ पा सकें। वहीं सीएम ने सभी स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को मृत्यु दर घटाने पर भी ध्यान देने को कहा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार