बिकरु कांड: विकास दुबे संग गोलियां बरसाने वाले इनामी बदमाश ने गुपचुप किया कोर्ट में सरेंडर, पुलिस फिर सवालों में

डीएन ब्यूरो

कानपुर पुलिस हत्याकांड के मास्टरमाइंड विकास दुबे के एक खास सहयोगी वांछित इनामी बदमाश ने गुपचुप तरीके से कोर्ट में सरेंडर कर लिया है। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..

उज्जैन में पकड़ा गया था विकास दुबे
उज्जैन में पकड़ा गया था विकास दुबे

कानपुर: बिकरू गांव में पुलिस हत्याकांड के मास्टर माइंड विकास दुबे के एक खास सहयोगी और घटना की रात पुलिस टीम पर गोलियां बरसाने वाले कुख्यात बदमाश गोपाल सौनी ने गुपचुप तरीके से कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। गोपाल सोनी बिकरु कांड में वांछित था और पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी पर एक लाख रूपये का इनाम घोषित किया गया था। 

घटना की रात पुलिस पर फायरिंग करने वाले विकास दुबे और उसके अन्य साथियों के साथ गोपाल सौनी भी मौजूद था। वह इस केस में नामजद था और घटना के बाद से फरार चल रहा था। 

गोपाल सौनी ने कानपुर देहात जिले की विशेष अदालच में आत्मसमर्पण कर दिया है। जिसके बाद कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है। गोपाल के कोर्ट में सरेंडर करने से पुलिस की कार्यप्रणाली पर फिर सवाल उठने लगे हैं।

जानकरी के मुताबिक गोपाल सोनी ने बुधवार शाम को कोर्ट में सरेंडे किया लेकिन उसने सरेंडर से दो दिन पहले कोर्ट में इसके लिये अर्जी दाखिल की थी। जिसके बाद कोर्ट ने चौबेपुर थाना समेत पुलिस और संबंधित विभागों से उसके रिकार्ड मांगे। गोपाल सैनी ने जिस नाटकीय तरीके और फुर्सत के साथ कोर्ट में सरेंडर किया, उससे पुलिस पर कई तरह के सवाल उठने लगे हैं। 

जानकारी के मुताबिक बिकरु में गोपाल सैनी का घर विकास दुबे के एकदम करीब है। दोनों के बीच बेहद गहरी दोस्ती थी। गोपाल को बम बनाने में भी माहिर माना जाता है। समझा जाता है कि विकास दुबे के लिये अवैध असलहे जुटाने और बम बनाने में गोपाल सैनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता था।   
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)













संबंधित समाचार