महराजगंज: जितेन्द्र यादव हत्याकांड में भाजपा विधायक बजरंग बहादुर सिंह का बयान आया सामने, कहा- मैंने नहीं करायी हत्या

डीएन ब्यूरो

महराजगंज जिले के फरेन्दा इलाके में सोमवार को दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हुई महिला जिला पंचायत सदस्य अमरावती देवी के पुत्र जितेन्द्र यादव की जघन्य हत्या के मामले में पुलिस को दी गयी तहरीर के बाद चारों ओर हड़कंप मच गया है। मृतक की पत्नी की ओर से पुलिस को दी गयी तहरीर में हत्या का आरोप फरेन्दा के भाजपा विधायक बजरंग बहादुर सिंह उर्फ बजरंगी सिंह पर लगाये जाने से मामला हाई-प्रोफाइल हो गया है। इस बीच समूचे हत्याकांड पर पहली बार भाजपा विधायक का पक्ष डाइनामाइट न्यूज़ पर सामने आया है। उन्होंने इसमें अपना हाथ होने से साफ इंकार किया है। पूरी खबर:


महराजगंज: पुलिस को दी गयी दो पन्ने की अपनी तहरीर में मृतक जितेन्द्र यादव की पत्नी बबिता यादव ने हत्या कराने का आरोप फरेन्दा के भाजपा विधायक बजरंग बहादुर सिंह उर्फ बजरंगी सिंह पर लगाया है। इसके बाद से चारो ओर हड़कंप मच गया है। अब देखना होगा कि पुलिस का अगला रुख क्या होता है। क्या पुलिस इसी तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत करती है या फिर तहरीर बदली जायेगी?

यह भी पढ़ेंः महराजगंज की बड़ी ख़बर- हिस्ट्रीशीटर अनिल गुप्ता पर प्रशासन ने कसा शिकंजा, भेजा जेल

तहरीर का पहला पेज 

बबिता ने अपनी तहरीर में लिखा है कि दो महीने पहले उसके पति पर गोलियां बरसायी गयी थी लेकिन वह किसी तरह बच गये थे। इस मामले में उसके पति ने विधायक के खिलाफ अधिकारियों को शिकायती पत्र दिया था जिससे नाराज होकर विधायक, रामवृक्ष, महावीर, दीनानाथ, महेश, रामकेश व नागेश्वर ने एक राय होकर अपनी साजिश व षड़यंत्र के तहत इस हत्याकांड को अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ेंः महराजगंज जिला पंचायत सदस्य के पुत्र की दिनदहाड़े हत्या से मची सनसनी, पुलिस के बड़े अफसरों की खुली पोल

इस हत्याकांड में भाजपा विधायक का नाम परिजनों द्वारा लेने पर डाइनामाइट न्यूज़ ने बजरंगी सिंह का पक्ष जाना। बजरंगी सिंह का कहना है कि ये आरोप झूठे हैं, दूर-दूर तक उनका इस हत्याकांड से कोई लेना-देना नहीं है। ये गलत मानसिकता के लोगों की उपज है। इसके लिए किसी भी तरह की जांच करा ली जाये। ये उनका विषय है कि वे किसका नाम लेते हैं और किस पर आरोप लगाते हैं। मुझसे कोई लेना देना नही है। आगे यह जांच का विषय है कि कैसे औऱ क्यों यह घटना हुई। 

गौरतलब है कि फरेंदा विकास खंड के वार्ड नंबर 28, हरैया बरगदवां की जिला पंचायत सदस्य अमरावती देवी के पुत्र जितेंद्र यादव अपने मित्र चेहरी निवासी 24 वर्षीय जितेंद्र के साथ सोमवार को दिन में किसी काम से फरेन्दा इलाके के महदेवा चौराहे पर गए थे। यहां से करीब डेढ़ बजे बाइक से वापस घर लौट रहे थे। अभी वह फरेंदा क्षेत्र के महुअवां गांव के करीब पहुंचे थे कि लघु शंका के लिए बाइक से उतर गए।

यह भी पढ़ेंः पंचायती चुनाव से पहले महराजगंज में हत्याओं का दौर शुरु, पुलिस के बड़े अफसरों की भूमिका पर उठे सवाल

तहरीर का दूसरा पेज

यह भी पढ़ें: सपा नेता जितेन्द्र यादव की निर्मम हत्या के बाद एसपी रोहित सिंह सजवान का बड़ा बयान डाइनामाइट न्यूज़ पर

उसी दौरान एक ही बाइक पर सवार दो बदमाश पहुंचे और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

जितेंद्र यादव किसी प्रकार भागकर जान बचाने का प्रयास कर रहे थे कि बदमाशों ने दौड़ाकर उनके सिर पर गोली मार दी जिससे वह जमीन पर गिर गए और उनकी मौत हो गयी। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार