ओम प्रकाश राजभर के खिलाफ भाजपाइयों ने हजरतगंज थाने में दी तहरीर

डीएन ब्यूरो

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ने एक रैली के दौरान मंच से ही बीजेपी नेताओं के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है। साथ ही उन्होंने बीजेपी नेताओं को जूतों से मारने की भी बात कही है। राजभर के इस भाषण का विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।


लखनऊ: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के भाजपा नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिये जाने के बाद भाजपाई नेताओं में जबरदस्त आक्रोश है। जिसको लेकर बीजेपी युवा नेताओं नेे हजरतगंज कोतवाली में तहरीर देकर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर बीजेपी को लेकर दिए गए अपने बयान के कारण विवादों में आ गए हैं। राज्य में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राजभर ने बीजेपी के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है।

उनका यह विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें वह बीजेपी नेताओं को गाली देते और जूतों से मारने की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं। ओमप्रकाश राजभर का आरोप है कि बीजेपी नेता मतदाताओं में एसबीएसपी से गठबंधन को लेकर भ्रम फैला रहे हैं।

 गौरतलब है कि ओम प्रकाश राजभर घोसी लोकसभा क्षेत्र के रतनपुरा में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि अभी एक चर्चा बड़ी तेजी से भारतीय जनता पार्टी के लोग फैला रहे हैं कि हम लोगों का (बीजेपी-एसबीएसपी का) गठबंधन है और महेंद्र (चुनाव) नहीं लड़ रहे हैं।

उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों से सवाल पूछते हुए कहा कि यहां जितने लोग हैं। बताओ कि महेंद्र चुनाव लड़ रहे हैं कि नहीं लड़ रहे हैं? 

राजभर के इस सवाल का जवाब भीड़ 'लड़ रहे हैं' कहकर देती है। विडियो में इसके बाद राजभर उग्र हो गए और कहा, 'अगर बीजेपी का नेता यह बोलते हुए मिल जाए तो जूता निकालकर उसको 10 जूता मारो कि तुम नहीं लड़ रहे हो।'

इस दौरान राजभर बीजेपी नेताओं के लिए गाली का इस्तेमाल कर रहे हैं। राजभर ने आगे कहा, 'गाली निकलती है जबान से। इन बेईमानों (बीजेपी नेताओं) को शर्म नहीं लगती है।' ओमप्रकाश राजभर का आरोप है कि बीजेपी नेता यह कहकर प्रचार कर रहे हैं कि एसबीएसपी और बीजेपी का गठबंधन है और राजभर की पार्टी का प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ रहा है।

बता दें कि हाल ही में राजभर ने प्रदेश सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसे अभी तक स्वीकार नहीं किया गया है। उनकी पार्टी ने भी प्रदेश में बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ लिया है।

 वहीं बीजेपी युवा नेता अनूप सिंह चन्दन ने कहा कि ओमप्रकाश राजभर द्वारा दिए गए बयान को लेकर हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी है और इंस्पेक्टर से अपील की है कि एफआईआर दर्ज कर ओमप्रकाश राजभर के खिलाफ कार्रवाई करें।

साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरीके से उन्होंने बीजेपी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। उनको जेल भेजना चाहिए। क्योंकि बीजेपी ने उनको जमीन से उठा कर सरकार में मंत्री पद जगह दी। लेकिन आज मैं अपनी मर्यादा भूल चुके हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …