कानपुर: भाई दूज पर बंदी भाइयों से मिलने गयी बहनों का कारागार में प्रदर्शन

डीएन संवाददाता

जिला कारगार में भाई दूज के अवसर पर अपने भाईयों से मिलने पहुंची बहनों को जिला प्रशासन से नहीं मिलने दिया। प्रशासन से नाराज बहनों ने कारागार प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी और प्रदर्शन किया।


कानपुर: देशभर में भाई दूज का त्योहार आज बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। भाई दूज के मौके पर दूर-दूर से आई बहने अपने भाई से मिलने जिला कारागार पहुंची। लेकिन जेल  प्रशासन ने उनको भाई से नहीं मिलने दिया। जिसके बाद सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने जेल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। जेल प्रशासन के मुताबिक हर शनिवार को जेल बंद रहता है, इसलिए उस दिन किसी को मिलने नही दिया जाता है।

बहनों ने हाथ जोड़कर किया निवेदन

कानपुर देहात के रसूलाबाद की प्रीति तिवारी ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि वो अपने भाईयों का टीका करने के लिए सुबह 4 बजे ही जिला कारागार पहुंच गई थी, लेकिन जेल प्रशासन ने उसे नहीं मिलने दिया, जिसका उसे मलाल है। 

इटावा से आयी पूजा ने बताया कि वह सुबह 6 बजे से अपने भाई को टीका लगाने के लिए घूम रही हैं, लेकिन उसे भाई से मिलने नहीं दिया गया। जेल प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगा रही महिलाओं के नाम रेजिस्टर में नोट करवाये गये। हालांकि इन बहनों को भाइयों से नही मिलने दिया गया है।

कारागार पहुंची सभी बहनों ने जिला प्रशासन से हाथ जोड़कर विनती की कि उन्हें उनके भाई से मिलने दिया, जाये लेकिन प्रशासन सुनने तो तैयार ही नहीं है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार