अमेठी: चिकित्सकीय मदद न मिलने से लड़की ने तोड़ा दम, परिजनों ने डॉक्टरों की लापरवाही का लगाया आरोप

डीएन ब्यूरो

आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं, जहाँ डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से मरीज को अपनी जान गँवानी पड़ी। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है। समय पर चिकित्सकीय मदद न मिलने से एक लड़की की जान चली गई। भाई ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट..


अमेठी: भारत में डॉक्टरों की लापरवाही एक गंभीर मुद्दा है। आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं जहाँ मरीजों को डॉक्टरों की लापरवाही के चलते अपनी जान गँवानी पड़ी है। ऐसी ही एक ख़बर उत्तर प्रदेश के अमेठी से आई है, जहाँ समय पर चिकित्सकीय मदद न मिलने से एक किशोरी की जान चली गई। 

बताया जा रहा है कि मामला ब्लॉक सिंहपुर कोतवाली मोहनगंज क्षेत्र के ग्राम कटोरवा मजरे फूला क्षेत्र का है। यहाँ के श्री सुभाष पशुपतिनाथ विद्यापीठ इंटर कॉलेज में पढ़ने वाली 10वीं की छात्रा को समय पर चिकित्सकीय मदद न मिलने से उसकी मौत हो गई। नरेंद्र सिंह की 15 वर्षीय पुत्री साक्षी सिंह स्कूल से छुट्टी होने के पश्चात जब घर लौटी, तो ठीक-ठाक थी। खाना खाने बाद अचानक उसके पेट में दर्द होने लगा। भाई और गाँव के लोग उसे तिलोई सामुदायिक स्वास्थय केंद्र लेकर आए। लेकिन वहाँ कोई डॉक्टर और नर्स मौजूद नहीं था। साक्षी को जमीन पर लेटाकर वे डॉक्टर के आने का इंतज़ार करते रहे लेकिन वहाँ कोई नहीं आया। आखिरकार साक्षी ने दम तौड़ दिया।

साक्षी के भाई अंकुर सिंह ने आरोप लगाया है कि डॉक्टरों की लापरवाही के चलते उसकी बहन की जान गई है। भाई का कहना है, ‘अगर डॉक्टर होते तो शायद मेरी बहन बच जाती। ’इस संबंध में जब चिकित्साधिकारी डॉ. राजेश मोहन श्रीवास्तव से पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि जाँच कर कार्वाही की जाएगी। 

पहले भी सामने आए हैं ऐसे मामले 

ये कोई अपवाद नहीं है। देश में कभी चिकित्सा सुविधा के अभाव और कभी डॉक्टरों की लापरवाही के चलते मरीज अपनी जान गँवाते रहे हैं। पिछले वर्ष ऐसे कई मामले सामने आए थे। दिल्ली सरकार ने दो निजी अस्पतालों पर कार्यवाही भी की थी। वहीं उत्तर प्रदेश में तो ऐसी लापरवाहियाँ होती रही हैं। पिछले वर्ष अक्टूबर महीने में डॉक्टरों की लापरवाही का एक मामला सामने आया था, जब गलत इंजेक्शन के चलते एक मरीज की जान चली गई थी। वहीं आजमगढ़ में भी चिकित्सकीय लापरवाही के चलते एक नवजात की मौत का मामला भी सामने आया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …