शाहजहांपुर: शादी से मना करने पर जल्‍लाद पिता ने बेटी को चाकू से गोदकर नदी में फेंका

डीएन ब्यूरो

उत्‍तर प्रदेश से एक बेहद ही शर्मनाक खबर सामने आई है, जहां एक कलियुगी पिता ने अपनी नाबालिग बेटी के शादी से मना करने पर चाकू मारकर नदी में फेंक दिया। गांव वालों की सूचना पर पुलिस ने नाबालिग को अस्‍पताल में भर्ती कराया है। पढ़ें डाइनामइट न्‍यूज़ की खास कवरेज..

अस्‍पताल में भर्ती घायल नाबालिग
अस्‍पताल में भर्ती घायल नाबालिग

शाहजहांपुर: यूपी के जिला शाहजहांपुर में एक कलियुगी पिता ने 15 साल की बेटी को चाकू से घोंप कर मारने की कोशिश की। नाबालिग बेटी का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने शादी से मना कर दिया था। उसे मारने का प्रयास करने के बाद से दोनों फरार हैं। लड़की को आसपास के लोगों की सूचना पर पुलिस ने अस्‍पताल पहुंचाया, जहां उसका इलाज किया जा रहा है। 

अस्‍पताल में मामले की जानकारी लेते पुलिस अधिकारी

शाहजहांपुर के थाना रौजा निवासी 15 साल की नाबालिग पिछले दो माह से थाना मिर्जापुर में अपनी बड़ी बहन के घर रह रही थी। इस दौरान उसके पिता ने उसकी शादी पुवांया के एक लड़के के साथ तय कर दी थी। 

शनिवार को शादी का कार्यक्रम था इस लिए पिता और भाई दोनों उसे लेने पहुंचे। शादी तय होने की बात सुनकर नाबालिग ने विरोध किया। 

घायल किशोरी ने आरोप लगाया है कि उसके पिता और भाई उसे मोटरसाइकिल से वापस घर लेकर आ रहे थे। रास्ते में बरेली मोड़ के पास पिता ने बाइक रोककर ताला खरीदने की बात कही और बाजार से ताला के बजाय एक चाकू खरीद लाए। इसके बाद उसे लेकर लखीमपुर के पसगवां गांव पहुंचे। जहां नहर किनारे की एक झोपड़ी में ले जाकर नाक और पेट पर चाकू से हमला कर दिया। उसे मरा समझकर दोनों वहां से फरार हो गए।

नजदीकी गांव के लोगों ने नाबालिग को घायल अवस्‍था में पड़ा देखा तो पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस ने उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। उसकी देखभाल उसकी बड़ी बहन और जीजा कर रहे हैं।

घायल नाबालिग से अस्‍पताल मिलने पहुंचे एसपी सिटी

मामले में एसपी स‍िटी दिनेश त्रिपाठी का कहना है कि घायल अवस्‍था में मिली नाबालिग को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की जांच की जा रही है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार