टी20 में लगातार पांच हार के क्रम को तोड़ने उतरेगी भारतीय महिला टीम..

डीएन ब्यूरो

भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार को यहां होने वाले दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में लगातार पांच हार के क्रम को तोड़ने का प्रयास करेगी। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट..

भारतीय महिला क्रिकेट टीम
भारतीय महिला क्रिकेट टीम

गुवाहाटी: भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार को यहां होने वाले दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में लगातार पांच हार के क्रम को तोड़ने का प्रयास करेगी। भारत को रविवार को यहां तीन मैचों की श्रृंखला के पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में इंग्लैंड के खिलाफ 41 रन की हार का सामना करना पड़ा था।

सबसे छोटे प्रारूप में भारत की लगातार पांचवीं हार का मतलब है कि डब्ल्यूवी रमन के मार्गदर्शन में खेलने वाली टीम को अगले साल की शुरुआत में आस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा।

भारत ने न्यूजीलैंड में एकदिवसीय श्रृंखला जीतने के बाद तीनों टी20 मुकाबले गंवा दिए थे और अब इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला भी इसी ओर बढ़ती दिख रही है। इंग्लैंड के चार विकेट पर 160 रन के स्कोर का पीछा करते हुए भारतीय महिला टीम छह विकेट पर 119 रन ही बना सकी थी।

इंग्लैंड के मजबूत स्कोर के बाद भारत को हरलीन देओल, कप्तान स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्ज और अनुभवी मिताली राज से काफी उम्मीदें थी लेकिन इन सभी ने निराश किया। भारत को हरमनप्रीत कौर जैसी आक्रामक खिलाड़ी की कमी खली। टी20 टीम की नियमित कप्तान हरमनप्रीत चोटिल हैं।

बेहतरीन फार्म में चल रही स्मृति भी कप्तानी में पदार्पण करते हुए नाकाम रही। उन्हें पिछले साल शानदार प्रदर्शन के लिए आईसीसी की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर भी चुना गया। हरमनप्रीत की अनुपस्थिति में एकदिवसीय टीम की कप्तान मिताली के टी20 में बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद थी लेकिन वह सिर्फ सात रन बना पाई और मौके का फायदा उठाने में नाकाम रहीं।

मिताली के अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप से पहले संन्यास लेने की संभावना है और कल वह बेहतर प्रदर्शन करने के इरादे से उतरेंगी। टीम में वापसी कर रही वेदा कृष्णमूर्ति भी पहले मैच में नाकाम रहीं और 25 गेंद में 15 रन ही बना सकीं। शिखा पांडे (नाबाद 23), दीप्ति शर्मा (नाबाद 22) और अरुंधति रेड्डी (18) ही कुछ देर टिककर खेल पाए लेकिन यह नाकाफी था।गेंदबाजी में भी दीप्ति, अरुंधति और राधा यादव ने काफी रन लुटाए।

तेज गेंदबाज शिखा पांडे (18 रन पर एक विकेट) और लेग स्पिनर पूनम यादव (बिना विकेट के 18 रन) ने किफायती गेंदबाजी की लेकिन उन्हें बाकी गेंदबाजों से पर्याप्त सहयोग नहीं मिला। 
दूसरी तरफ इंग्लैंड की ओर से टैमी ब्युमोंट (57 गेंद में 62 रन), कप्तान हीथर नाइट (20 गेंद में 40 रन) और डेनियली वाट (35) पहले मैच में काफी अच्छी लय में दिखीं जिससे इंग्लैंड को मेजबान टीम को हराने में अधिक पसीना नहीं बहाना पड़ा। (भाषा)

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …