गुजरात में प्रभु यीशु के लिए आपत्तिजनक शब्द इस्तेमाल करने पर कानपुर में भारतीय मसीही महासभा ने किया पैदल मार्च

डीएन संवाददाता

गुजरात में हिंदी की एक किताब में यीशु पर आपत्तिजनक शब्द लिखने पर भारतीय मसीही महासभा ने कानपुर में पैदल मार्च कर प्रदर्शन किया।

भारतीय मसीही महासभा ने पैदल मार्च कर किया प्रदर्शन
भारतीय मसीही महासभा ने पैदल मार्च कर किया प्रदर्शन

कानपुर: गुजरात मे कक्षा 9 की हिंदी की किताब में प्रभु यीशु मसीह के लिए आपत्तिजनक शब्द ‘हैवान’ इस्तेमाल किया गया। जिसको लेकर सारे ईसाई समाज मे रोष व्याप्त है। बच्चों को यीशू के विषय पर किताबों के जरिए भड़काया जा रहा है। जिसके विरोध पर भारतीय मसीही महासभा ने विरोध में पैदल मार्च निकालकर सरसैया घाट से लेकर ज़िलाधिकारी कार्यालय तक पैदल मार्च कर प्रदर्शन किया। इस मार्च में सैकड़ों लोग मौजूद रहे। लोगों में गुजरात सरकार को लेकर काफ़ी गुस्सा है जिसको लेकर नारेबाजी भी की गई।

यह भी पढ़ें: मंदसौर पर सियासी संग्राम जारी, आप कार्यकर्ताओं ने कानपुर में किया प्रदर्शन

क्या कहना है मसीही राष्ट्रीय महासचिव का

भारतीय मसीही महासभा के राष्ट्रीय महासचिव पादरी जितेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रभु यीशु मसीह को हैवान लिखे जाने पर पूरे देश के ईसाई समाज मे काफी गुस्सा और आक्रोश है। इसमें हमारे धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने का काम किया जा रहा है।

शिक्षा मंत्री माफी मांगे अन्यथा करेंगे आंदोलन

महासभा की माँग है कि ऐसे शब्दों पर और किताब के प्रकाशन पर कठोर कार्यवाही की जाए। किताब पर रोक लगे और गुजरात सरकार के द्वारा जो इस किताब को मान्यता दी गयी है इसके लिए वहां की सरकार इस बात के लिए माफ़ी माँगे। अगर हमारी मांगे न पूरी हुयी तो ईसाई समाज सड़कों पर उतर कर आन्दोलन करेगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार