ऐसा मंदिर, जहां भगवान नाग देवता बनकर देते हैं भक्तों को दर्शन

डीएन संवाददाता

कानपुर के इस मंदिर में भगवान स्वयं नाग देवता के रूप में भक्तों को दर्शन देते हैं और उनकी मनोकामना को पूरी करते हैं।

कानपुर का खेरेपति बाबा नाग मन्दिर
कानपुर का खेरेपति बाबा नाग मन्दिर

कानपुर: आज पूरे देश भर में नागपंचमी का त्योहार बड़े ही धूम धाम से मनाया जा रहा है। कानपुर के मेघदूत चौराहे पर प्रसिद्ध खेरेपति बाबा नागों का मन्दिर है। ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर में भगवान स्वयं नाग देवता के रूप में भक्तों को दर्शन देते हुए दिखाई देते हैं।

क्या कहना है पुजारी का

कानपुर के मेघदूत चौराहे पर करीब 200 वर्ष पुराना ये नागों का मंदिर है। इस मन्दिर को खेरेपति बाबा के मन्दिर के नाम से जाना जाता है। मन्दिर के पुजारी राजीव दीक्षित जी बताते हैं कि इस प्राचीन मंदिर की अपनी एक अलग पहचान है।

यह भी पढ़ें: जानिये नागपंचमी के दिन क्यों की जाती है सांपों की पूजा?

नागपंचमी के मौके पर यहां दूर दूर से कई हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु खेरेपति मन्दिर में दर्शन के लिए पहुंचते हैं। उन्होंने बताया कि मन्दिर में अक्सर ऐसा भी देखा गया है कि रात को मन्दिर के पट बन्द कर के जाते है, सुबह खोलते ही नाग देवता के मंदिर में फूल चढ़े हुए मिलते हैं।

यह भी पढ़ें: सावन स्पेशल: 'शिवभक्त' सांप तीन सौ वर्षों से कर रहा पाताली शिवलिंग की परिक्रमा

उन्होंने बताया कि यहां स्वयं भगवान ही नाग का रूप लेकर कई बार भक्तों को दर्शन देते हुए मन्दिर परिसर में दिखाई दे चुके हैं। यहां सच्चे मन से जो भी भक्त आता है नाग देवता उसकी मनोकामना जरूर पूरी करते हैं। यहां नागपंचमी त्योहार का विशेष महत्व होता है। इसके लिए इस मंदिर को काफी अच्छे से सजाया गया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार