अमेठी लोकसभा सीट से स्‍मृति ईरानी ने किया नामांकन, राहुल गांधी से है मुकाबला

डीएन ब्यूरो

आज मतदान के साथ ही लोकतंत्र के महापर्व का आगाज हो गया है। इसी क्रम में आज भाजपा नेत्री स्‍मृति ईरानी अमेठी से कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गाधी के खिलाफ नामांकन कर दिया है। ज्ञात हो कि 2014 में भी वह यहां से चुनाव लड़ चुकी हैं हालांकि 2014 में उनको हार का मुंह देखना पड़ा था।

नामांकन दाखिल करती स्‍मृति ईरानी
नामांकन दाखिल करती स्‍मृति ईरानी

अमेठी: लोकशाही का महापर्व चुनाव का प्रथम चरण के मतदान के साथ शुरू हो चुका है। पहले चरण में देश के 20 राज्‍यों के 91 लोकसभा सीटों के लिए मतदान किया जा रहा है। इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी नेत्री स्‍मृति ईरानी आज अमेठी लोकसभा से अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।

करीब तीन किलोमीटर की दूरी तय करके कलेक्‍ट्रेट पर संपन्‍न हुआ। रोड शो गौरीगंज के पार्टी कार्यालय से कलेक्ट्रेट तक हुआ। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा के तमाम वरिष्‍ठ नेता सहित सैकड़ों की संख्‍या में कार्यकर्ता शामिल रहे। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और स्मृति ईरानी लोगों को भी संबोधित कर विपक्षी दलों पर जबरदस्‍त तरीके से हमला बोला। 

नामांकन से पहले मेगा रोड शो करती स्‍मृति ईरानी

नामांकन के लिए निकलने से पहले भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पार्टी मुख्यालय पर मीडिया से बात की। उन्होंने विश्वास जताया कि नरेंद्र मोदी फिर एक बार देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। वहीं, उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर कहा कि वह खुद अपनी पार्टी के लिए सवाल बन चुके हैं।

नामांकन से पहले पूजा अर्चना करती स्‍मृति ईरानी

पूजा-अर्चना कर नामांकन के लिए निकली स्‍मृति
स्मृति ईरानी ने भाजपा के स्‍थानीय पार्टी कार्यालय के पास बूढ़न माता मंदिर में पूजा अर्चना किया। जिसके बाद वह रोड शो निकाला और कलेक्‍ट्रेट पहुंची। 

हारने के बाद भी सबसे अधिक अमेठी में रही सक्रिय
चुनाव के बाद भी स्मृति ईरानी अमेठी में बीते 5 सालों में सबसे अधिक सक्रिय रही हैं और उन्होंने अमेठी में केंद्र सरकार की कई योजनाएं अपनी देखरेख में चालू करवाई हैं। फरवरी में ही पीएम मोदी ने अमेठी के कोरवा के क्लाशिनिकोव राइफल का प्लांट का शिलान्यास किया है। यहां पर रूस की मदद से एके-203 राइफलों का निर्माण किया जाएगा।

पिछले लोकसभा चुनाव में राहुल को दी थी कड़ी टक्‍कर
2014 लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बीच स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को उनकी परंपरागत सीट पर कड़ी टक्कर दी थी। 2009 लोकसभा चुनाव में साढ़े तीन लाख वोटों से जीतने वाले राहुल गांधी को 2014 लोकसभा चुनाव भारी पड़ गया था। स्मृति और राहुल के वोटों के बीच अंतर घट कर करीब एक लाख रह गया था। इस चुनाव में राहुल गांधी को 408651 वोट मिले थे वहीं बीजेपी प्रत्याशी स्मृति ईरानी को 300748 वोट मिले थे। कुमार विश्वास को मात्र 25 हजार और बीएसपी को 57716 वोट मिले थे। इस बार एक बार फिर मोदी लहर के बीच भाजपा अमेठी सीट जीतने का दावा कर रही है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …