Navaratri 2019: नवरात्रि का आज पहला दिन, जानें क्या है कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और इसके नियम

डीएन ब्यूरो

नवरात्र 29 सितंबर यानी आज से शुरू हो चुके हैं और नवरात्रि के पहले दिन कलश की स्थापना की जाती है। आइए जानते हैं कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और इससे जुड़े कुछ नियम। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

कलश स्थापना
कलश स्थापना

नई दिल्लीः नवरात्रि के पहले दिन यानि 29 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत योग का शुभ संयोग बन रहा है। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि इस बार घट स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त की अवधि लंबी रहेगी। हिंदू पंचांग के मुताबिक सुबह के समय घट स्थापना का शुभ मुहूर्त 9 बजकर 15 मिनट से लेकर 12 बजकर 20 मिनट तक रहेगा। इसके बाद दोपहर के समय 1 बजकर 45 मिनट से लेकर 3 बजकर 15 मिनट तक रहेगा। फिर शाम के समय घट स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त 6 बजकर 15 मिनट से लेकर 9 बजकर 45 मिनट तक रहेगा।

रविवार से शारदीय नवरात्र का प्रारम्भ हस्त नक्षत्र में हो रहा है। लंबे समय बाद शारदीय नवरात्र व्रत पूरे नौ दिन के होंगे। 29 सितंबर से प्रारम्भ होकर 8 अक्तूबर तक यह चलेंगे। बहुत समय बाद इस बार किसी तिथि का क्षय नहीं है। क्रमवार सभी नवरात्र व्रत होंगे। 8 अक्टूबर को विजय दशमी है।

कलश स्थापना करते समय नदी की रेत का उपयोग करें. इस रेत में जौ भी डालें. इसके बाद कलश में गंगाजल, लौंग, इलायची, पान, सुपारी, रोली, कलावा, चंदन, अक्षत, हल्दी, रुपया, पुष्पादि डालें। फिर 'ॐ भूम्यै नमः' कहते हुए कलश को सात अनाजों के साथ रेत के ऊपर स्थापित करें।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार