वाराणसी: काशी विश्वनाथ कॉरिडोर ध्वस्तीकरण में निकले शिवलिंगों को नाले किनारे फेंका, लोगों में भारी आक्रोश

डीएन ब्यूरो

काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर ध्वस्तीकरण से भारी संख्या में शिवलिंग पाये गये। इन शिवलिंगों को मलबा समझकर नाले किनारे फेंका गया जिससे लोगों में भारी आक्रोश है। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें पूरी डिटेल...


वाराणसी: पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में उनकी ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को लेकर तेजी से कार्य चल रहा है। लेकिन अब इसमें बड़ी लापरवाही सामने आई है। मंदिर कॉरिडोर के तहत चल रहे ध्वस्तीकरण कार्य के दौरान दो दर्जन से ज्यादा शिवलिंग पाये गये। इन शिवलिगों को मलबा समझकर रोहित नगर के नाले के किनारे फेंका दिया गया, जिससे यहां की जनता में भारी आक्रोश व्याप्त है।

यह भी पढ़ें: कुंभ में गंगा जल की स्वच्छता की निगरानी करेगा आईआईटी बीएचयू.. सरकार ने दी जिम्मेदारी

बुधवार को जब लोगों ने यह देखा तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। यह खबर पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैल गई इसके बाद काफी लोग यहां जमा हो गये। कई लोग तो शिवलिगों को उठा कर अपने घर ले गये।

यह भी पढ़ें: वाराणसी: अब आपके नवजात बच्चों की नही होगी मौत.. बीएचयू का सफल हुआ रिसर्च

सूचना के बाद मौके पर पहुंची ने शिवलिंगों को उठाकर लंका थाने लाया गया। मामले में दो मजदूर को हिरासत में ले लिया और उनसे पूछताछ कर रही है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार