यूएन में अब्बासी का झूठ, भारत ने पाकिस्तान को कहा 'टेररिस्तान'

डीएन ब्यूरो

भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खोकन अब्बासी के झूठ पर जोरदार पलटवार किया है। भारत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादियों का गढ़ है और मानवाधिकारों पर वह दुनियां को ज्ञान न दे।

यूएन में भारत की सचिव एनएम गंभीर (फाइल फोटो)
यूएन में भारत की सचिव एनएम गंभीर (फाइल फोटो)

न्यूयार्क: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खोकन अब्बासी के झूठ पर भारत ने जोरदार पलटवार किया है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकवादियों का गढ़ है और दुनिया को मानवाधिकारों पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है। पाकिस्तान अपने ही देश में मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। भारत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को यह समझना चाहिए कि जम्मू और कश्मीर भारत का एक अहम अंग है। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत की सचिव एनएम गंभीर ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान को 'टेररिस्तान' करार करते हुए कहा कि पाकिस्तान लगातार आतंकवादियों को आश्रय दे रहा हैं। पाकिस्तान में आतंकवादी स्वतंत्र रूप से घूमते हैं। अन्य देशों को पाकिस्तान से लोकतंत्र और मानवाधिकार की परिभाषा सीखने की जरूरत नहीं है। गंभीर ने कहा कि जिस देश में आतंकवादी सड़कों पर स्वतंत्र रूप से घूमते हैं, वे भारत को मानवाधिकार का ज्ञान न दें। 

यह भी पढ़ें: यूएन में भारत ने कहा- आतंक की फैक्ट्री बना हुआ है पाकिस्तान

गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान आज हर जगह आतंकवाद को पनाह दे रहा हैं, यह वही देश हैं जो ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर को आश्रय देता था। अब तक के इतिहास में साफ हो चुका हैं कि पाकिस्तान आतंकवाद का पर्याय हो गया हैं। भारत का पड़ोसी देश आतंकवाद को पैदा कर रहा है और इसे वैश्विक स्तर पर भी फैला रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में, पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर पर अपना राग अलापते हुए प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी ने दावा किया कि भारत ने कश्मीर मुद्दे पर सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का पालन नहीं किया हैं । 

यह भी पढ़ें: समुद्र को प्रदूषण मुक्त करने की मुहिम में 10 देश शामिल

संयुक्त राष्ट्र आम सभा में प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी ने कहा कि भारत देश ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को लागू करने से इनकार कर दिया हैं, जो कश्मीर में जनमत-संग्रह की बात करता हैं। अब्बासी ने यह आरोप लगाया कि कश्मीर में लोगों के साथ अत्याचार हो रहा हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …