गोरखपुर त्रासदी में हुई मासूमों की मौत को लेकर रालोद का धरना

डीएन संवाददाता

गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में मासूमों की मौत की सही जांच ना होने पर रालोद ने धरना-प्रदर्शन किया।


लखनऊ: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में हुई मासूमों की मौत से गुस्साए राष्ट्रीय लोक दल के कार्यकर्ताओं का धरना-प्रदर्शन आज भी जारी है। रालोद ने मामले की उचित जांच न होने पर भी रोष जताया। 

कार्यकर्ताओं का कहना है कि सरकार इतनी बड़े हादसे के बाद भी सबक नहीं ले रही है। कालेज में आक्सीजन की कमी से हुई मौतों के बाद भी सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। इतना ही नहीं अभी भी अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है।

डा. मसूद अहमद, प्रदेश अध्यक्ष, रालोद 

बीआरडी मेडिकल कालेज पर भ्रष्टाचार का आरोप

राष्ट्रीय लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष डा. मसूद अहमद ने कहा कि गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत बीआरडी मेडिकल कालेज प्रशासन के भ्रष्टाचार का एक बड़ा उदाहरण है। यदि इस मामले में योगी सरकार समय से कोई कदम उठाती तो शायद इतना बड़ा हादसा नहीं होता।

स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग

रालोद ने धरना प्रदर्शन में इस हादसे के लिए यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को जिम्मेदार बताया है। साथ ही सीएम योगी से उन्हें तत्काल बर्खास्त करने की मांग की। उन्होनें कहा की सरकार इस दुखद घटना की न्यायिक जांच हाईकोर्ट की निगरानी में कराये।

पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा देने की मांग

रालोद कार्यकर्ताओं ने योगी सरकार से सभी पीड़ित परिवारों को 20-20 लाख मुआवजा देने की मांग की। साथ ही घटना के पीड़ित परिवारों के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिये जाने की भी मांग की।

क्या था मामला

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में आक्सीजन की कमी के कारण 30 बच्चों की मौत हो गई थी। हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह अभी तक यही दावा कर रहे हैं कि बच्चों की मौत आक्सीजन की कमी के कारण नहीं बल्कि इन्सेफेलाइटिस नाम की बीमारी से हुई है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …