लखनऊ: ऊर्जा विभाग कर्मियों ने घेरा शक्ति भवन, नारेबाजी कर दी सामूहिक अनशन की चेतावनी

डीएन संवाददाता

विद्युत कार्यालय सहायक संघ के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे ऊर्जा विभाग के कार्यालय सहायकों का कहना है कि मैनेजमेंट उनकी मांगों पर पिछले एक साल से ध्यान नहीं दे रहा है और उन्हें अब तक सातवें वेतन आयोग का लाभ भी नहीं मिल दिया जा रहा है।


लखनऊ: वेतन वृद्धि, पदोन्नति समेत अन्य कई मांगों को लेकर राजधानी स्थित शक्ति भवन गेट पर ऊर्जा विभाग के दर्जनों कार्यालय सहायकों ने उग्र प्रदर्शन कर मैनेजमेंट के विरोध में जमकर नारेबाजी की औऱ शक्ति भवन का घेराव किया। प्रदर्शनकारियों ने मैनेजमेंट पर गैर तकनीकी कैडर कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो वे आगामी 3 जनवरी से यूपी के सामूहिक आमरण अनशन पर बैठेंगे। 

 

विद्युत कार्यालय सहायक संघ के बैनर तले शुक्रवार को प्रदर्शन कर रहे ऊर्जा विभाग के कार्यालय सहायकों का कहना है कि मैनेजमेंट उनकी मांगों पर पिछले एक साल से ध्यान नहीं दे रहा है और उन्हें अब तक सातवें वेतन आयोग का लाभ भी नहीं मिल दिया जा रहा है। 

भेदभाव के गंभीर आरोप

प्रदर्शन के दौरान विद्युत कार्यालय सहायक संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुनील प्रकाश पाल ने कहा कि कार्यालय सहायक संघ वेतन विसंगतियों को दूर करने और समय से प्रमोशन की मांग को लेकर पिछले 1 साल से मैनेजमेंट से मांग कर रहा है। इस बाबत सैकड़ों ज्ञापन भी दिए जा चुके हैं। मगर अब तक शासन या मैनेजमेंट की ओर से उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया है। जिसे लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है। 

पदोन्नति का मामला

उन्होंने बताया कि ऊर्जा विभाग में काम कर रहे टैक्निकल कैडर कर्मचारियों की पदोन्नति मात्र 4 से 5 साल में ही हो जाती है। जबकि कार्यालय सहायकों की पदोन्नति पिछले लंबे समय से नहीं हुई है और यदि लंबे समय बाद कार्यालय सहायकों की पदोन्नति करने का कोई आदेश भी आता है तो तब पदोन्नति के बाद भी उनको उनका वेतन पद के अनुपात में नहीं दिया जाता है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार