लखनऊ: स्वच्छ भारत मिशन को नगर निगम लगा रहा पलीता, चारों तरफ बिखरी पड़ी गंदगी

डीएन ब्यूरो

देश में एक और जहां साफ सफाई को लेकर पीएम मोदी स्वच्छ मिशन के नाम से अभियान चला रहे हैं वहीं दूसरी तरफ राजधानी में ओसवाल बिल्डिंग, विधायक निवास के पास लंबे समय से गंदगी का अंबार लगा हुआ लेकिन किसी भी अधिकारी का ध्यान उस पर नहीं गया।


लखनऊ: देश में एक और जहां साफ सफाई को लेकर पीएम मोदी स्वच्छ भारत मिशन के नाम से अभियान चला रहे हैं वहीं दूसरी तरफ राजधानी लखनऊ में ओसवाल बिल्डिंग, विधायक निवास के पास लंबे समय से गंदगी का अंबार लगा हुआ लेकिन किसी भी अधिकारी का ध्यान उसपर नहीं गया है। 

 

 

देश में साफ सफाई को लेकर कई बड़ी योजनाएं शुरू की गई हैं। लेकिन यूपी की राजधानी लखनऊ में कुछ ऐसे इलाके हैं जो अभी भी गंदगी के अंबार से भरे पड़े हैं और इन पर किसी भी जिम्मेदार की निगाह नहीं पड़ती। यूपी के विधायकों के निवास के रूप में जाने जाने वाले ओसीआर बिल्डिंग के बाहर भारी गंदगी बिखरी पड़ी है।

ओसीआर बिल्डिंग में विधायकों के निवास हैं और वहां फैली गंदगी लंबे समय से बिखरी पड़ी है। लेकिन भाजपा सरकार बनने के बाद स्वच्छता को लेकर जो बड़े-बड़े दावे किए गए थे वह सब इस गंदगी के ढेर के सामने आकर ढेर हो गए। अभी तक इस वीवीआईपी इलाके में फैली गंदगी के ढेर की सुध लेने की जरूरत किसी ने नहीं समझी।

इस मामले में जब भाजपा प्रवक्ता डॉ मनोज मिश्र ने बताया कि 60 सालों की गंदगी 10 महीने में दूर नहीं की जा सकती। भाजपा प्रवक्ता ने बताया कि सरकार स्वच्छ भारत मिशन को अंजाम तक पहुंचाने में लगी है और इसके परिणाम देखने के लिए थोड़ा इंतजार सबको करना पड़ेगा। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार