लखनऊ: छात्राओं ने प्रिंसिपल पर लगाया अश्लील हरकत का आरोप, अभिभावकों ने किया हंगामा

डीएन ब्यूरो

हजरतगंज थाना क्षेत्र में स्थित नेशनल इंटर कॉलेज की छात्राओं ने स्कूल के प्रिंसिपल पर छेड़छाड़ और अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया है। छात्राओं की इस शिकायत के बाद अभिभावक स्कूल पहुंचे और हंगामा किया।

लखनऊ: राजधानी के नेशनल इंटर कालेज की छात्राओं ने कालेज प्रिंसिपल और एक लिपिक पर छेड़छाड़ व अश्लील हरकत का आरोप लगाया है। घटना के विरोध में छात्राओं ने प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। 

हंगामे की सूचना पर हजरतगंज पुलिस कॉलेज पहुंची तो प्रिंसिपल ने खुद को परिसर स्थित आवास में बंद कर लिया और जब पुलिस प्रिंसिपल के आवास पर पहुचीं तो प्रिंसिपल के परिजनों ने पुलिस वालों के साथ बदसलूकी करते हुए भगा दिया।

 

प्रिंसिपल ने साजिश करार दिया

छात्राओं से छेड़छाड़ के आरोपों पर प्रिंसिपल उमाशंकर सिंह ने इसे कालेज के कुछ शिक्षकों की साजिश बताया। उन्होंने कहा कि कालेज में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच करने पर पूरा मामला सामने आ जायेगा। कालेज के एक शिक्षक आर पी सिंह ने बताया कि प्रिंसिपल उमाशंकर सिंह कुछ छात्राओं के घर रात मे ट्यूशन के बहाने जा कर गंदी बाते करते हैं। साथ ही कई महिला शिक्षको संग भी अभद्रता कर चुके हैं।

 

 

इस घटना के बारे में छात्राओं का कहना है कि प्रिंसिपल अक्सर उन्हें ऑफिस में बुलाकर गंदी बातें करते हैं और घर चले आते है। छात्रओं ने कहा कि बाराबंकी से बोर्ड की ड्यूटी पर आईं महिला टीचर्स से भी उन्होंने अश्लील हरकतें की हैं। छात्राओं के खुलासे के बाद स्कूल के बाहर परिजनों और छात्राओं ने जमकर हंगामा किया।

 

हजरतगंज थाने में तहरीर

इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए छात्राओं ने बताया कि स्कूल में छुट्टी होने के बाद प्रिंसिपल उमाशंकर ने कक्षा 11 की करीब चार-पांच लड़कियों को स्कूल में ही रोक लिया। यह लड़कियां लखनऊ के अलग अलग क्षेत्र की रहने वाली हैं। छात्राओं का आरोप है कि स्कूल में सभी महिला अध्यापकों के चले जाने के बाद प्रिंसिपल ने उनके साथ अश्लील हरकत और बातें की और विरोध करने पर अभद्रता की। साथ ही प्रिंसिपल ने मुंह खोलने पर छात्राओं का भविष्य खराब करने की भी धमकी दी।

मामलें में डाइनामाइट न्यूज से बात करते हुए एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि मामला सामने आया है। पूरे मामले की जांच करा कर उचित कार्रवाई की जायेगी। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)









आपकी राय

#DNPoll:क्या आप एग्जिट पोल पर भरोसा करते हैं?

हां
46.15%
नहीं
53.85%