कुशीनगर: माफियाओं और अधिकारियों की मिलीभगत से गन्ना किसान संकट में

डीएन संवाददाता

गन्ना माफियाओं एवं गन्ना विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से क्षेत्र में गन्ना उपलब्धता का ठीक से सर्वे नहीं होने के कारण चीनी मिल द्वारा बड़ी मात्रा में बिहार से गन्ना खरीदा जा रहा है, जिससे क्षेत्र के गन्ना किसानों में भारी रोष है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

कुशीनगर: गन्ना माफियाओं और प्रशासन की मिलीभगत के कारण रामकोला एवं खडडा चीनी मिल क्षेत्र में खेतों में खड़े गन्ने की फसल बर्बाद हो रही है। क्षेत्र में गन्ना उपलब्धता का ठीक से सर्वे नहीं होने के कारण चीनी मिल द्वारा बड़ी मात्रा में कम कीमत पर बिहार से गन्ना खरीदा जा रहा है, जिससे क्षेत्र के गन्ना किसानों में भारी रोष है। गन्ना माफिया एवं गन्ना विभाग के अधिकारियों द्वारा बाहर से गन्ना खऱीदने पर मोटा मुनाफा कमाया जा रहा है।

रामकोला के पूर्व विधायक मदन गोविन्द राव ने गन्ना विभाग के अधिकारियों पर उक्त आरोप लगाते हुए प्रदेश सरकार से रामकोला सहित कुशीनगर क्षेत्र के गन्ना किसानों की लूट के खिलाफ चीनी मिल प्रबंधक एवं गन्ना विभाग के अधिकारियों पर दंडात्मक कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

पूर्व विधायक ने कहा कि फर्जी खातों के माध्यम से बिहार से अब तक लगभग 25 से 30% तक गन्ने की अनुचित खरीद की गई है, जो कि आज भी जारी है। इसी के साथ घटतौली भी चलाई जा रही है। उनका कहना है कि वह इस बारे में सरकार समेत कई अधिकारयों से पहले भी शिकायत कर चुके है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि गन्ना अधिकारियों ने क्षेत्र के किसानों की अनदेखी की तो उनके खिलाफ उचित कदम उठाया जायेगा।
 








संबंधित समाचार