कानपुर: शराब के खिलाफ महिलाओं का उग्र प्रदर्शन जारी, ठेके में लगाई आग

डीएन संवाददाता

शराब के खिलाफ महिलाओं का जंग जारी है। हर रोज महिलाएं एक जुट होकर शराब के ठेकों पर हमला बोलकर दुकान में तोड़फोड़ कर रही हैं। मामला कानपुर के चकेरी क्षेत्र के छबीलेपुरवा का है जहां एक ठेके को आग के हवाले कर दिया गया।

ठेके के अंदर घुसकर की तोड़फोड़
ठेके के अंदर घुसकर की तोड़फोड़

कानपुर: शराबबंदी अभियान ने गुरुवार को शहर में उग्र रूप ले लिया है। गुरुवार को चकेरी के जाजमऊ छबीलेपुरवा इलाके में शराब की दुकान में लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की और दुकान को आग के हवाले कर दिया।

यह भी पढ़ें: जंगल बुक के मोगली के बारे में तो सब जानते हैं, क्या आपने असली ‘मोगली गर्ल’ देखी?

 

क्या था मामला

दरअसल तौफीक अहमद का देशी शराब का ठेका पिछले नौ सालों से चल रहा है। ठेके मालिक का आरोप है कि शराब बंदी को लेकर सैकड़ों महिलाओं और पुरुषों ने गुरुवार को ठेके के पास पहुंचर बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे को सबसे पहले तोड़ दिया और उसके बाद ठेके में लगे लोहे के दरवाजे को तोड़ते हुए ठेके के अंदर घुस कर हंगामा शुरू कर दिया। कुछ लोगों ने अंदर जाकर ठेके के सेल्समैन से हाथापाई की और ठेके के गल्ले में रखे करीब सवा लाख रूपए लूट लिए।

यह भी पढ़ें: आगरा में बदमाशों का आतंक, SOG सिपाही को गोलियों से भूना

वही लोगों ने शराब की बोतले और कुर्सी मेज तोड़ कर उसे आग के हवाले कर दिया। आनन फ़ानन में ठेके के सेल्समैन ने किसी तरह पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए बताया कि पहले जांच की जाएगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार