लखनऊ: राज्य कर्मचारी दर्जे की मांग को लेकर ग्राम सेवकों का प्रदर्शन

डीएन संवाददाता

राज्य कर्मचारी दर्जे की मांग को लेकर लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में ग्राम रोजगार सेवकों ने प्रदर्शन किया।


लखनऊ: सरकारी कर्मचारी के दर्जे की मांग को लेकर ग्राम सेवकों ने हजारों की तादाद में प्रदर्शन शुरू किया। इस दौरान उन्होंने अपने लिये सेवा नियमावली बनाये जाने की मांग की। ग्राम रोजगार सेवकों ने नगर निगम में शामिल हो चुके ग्राम पंचायतों के रोजगार सेवकों को खाली पड़े ग्राम पंचायतो में भेजने की मांग उठाई है। साथ ही रोजगार सेवकों की स्थानांतरण प्रक्रिया और समूह 'ग' के कर्मचारियों के समान वेतन भत्ता दिये जाने की भी मांग उठाई है।

ग्राम रोजगार सेवक संघर्ष समिति के संचालक सदस्य शिव मनोरथ शुक्ला ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि रोजगार सेवकों का यह आन्दोलन निर्णायक होगा, जब तक उनकी मांगे पूरी नही होगी, तब तक वे लक्ष्मण मेला मैदान से नही हटेंगे।

प्रदर्शन करते ग्राम रोजगार सेवक

करेंगे आमरण अनशन

ग्राम रोजगार सेवक देवेंद्र शाही ने बताया कि यदि योगी सरकार हमारी मांगों पर ध्यान नहीं देती तो हमारा प्रदर्शन आमरण अनशन और भूख हड़ताल में बदल जायेगा। रोजगार सेवकों ने इस मौके पर सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुये सरकार से पंचायत सहायकों की भर्ती पर रोक लगाने की भी मांग उठाई।

इस मौके पर 12 सदस्यीय प्रांतीय संचालन समिति के ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, कमलेश गुप्ता, अर्चना सिंह और अनिल दूबे सहित हजारों की तादाद में रोजगार सेवक मौजूद रहे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार