गोरखपुर: पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के ठिकाने पर छापे के विरोध में धरना प्रदर्शन

डीएन संवाददाता

पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के घर पर छापा मारने के मामले में विवाद बढ़ता ही जा रहा है इस मामले में सोमवार को हरिशंकर तिवारी के बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी समेत तमाम समर्थकों ने कलेक्ट्रेट के सामने धरना प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन करते बसपा समर्थक
प्रदर्शन करते बसपा समर्थक

गोरखपुर: यूपी के पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के बेटे और चिल्लूपार विधानसभा के बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी के आवास पर पुलिस छापामारी के विरोध में बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी, बसपा प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर और विधायक दल के नेता लालजी वर्मा समेत तमाम समर्थकों ने सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इससे पहले विधायक विनय शंकर तिवारी ने अपने आवासीय परिसर में जुटे समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले की पुलिस सरकार के रिमोट पर काम कर रही है। ऊपर से जो आदेश मिल रहा है उस हिसाब से पुलिस अपना बयान बदल रही है। एसपी सिटी पहले कहते हैं बदमाश की तलाश में छापेमारी हुई फिर कहते हैं घर में छापा मारा ही नहीं गया। 

इस मामले में बसपा के विधायक विनय शंकर तिवारी ने छापामारी को सरकार के इशारे पर की गई कार्रवाई बताया था। उनका आरोप है कि पुलिस उनके घर पर बिना सर्च वारंट के आई थी। विधायक विनय शंकर तिवारी ने खुद को फंसाए जाने की आशंका भी जताई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से पुलिस ने शनिवार को कार्रवाई की है उससे लग रहा है कि बदले की भावना से काम किया जा रहा है।

गौरतलब है कि चिल्लूपार के बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के आवास पर शनिवार को पुलिस के छापे ने गोरखपुर में राजनीतिक भूचाल ला दिया था छापे के दौरान पुलिस ने एक युवक सहित 6 लोगो को हिरासत में ले लिया था और छापे के दौरान पुलिस ने गार्ड शैलेंद्र दूबे को पीटा भी दिया था।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …