तस्वीरों में देखिये यूपी के शिक्षकों का आंदोलनकारी रूप..

डीएन ब्यूरो

बच्चों के भविष्य के निर्माता कहे जाने वाले शिक्षक आज दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर हैं। यूपी में शिक्षकों की हालत ऐसी है कि उन्हें खुद के भविष्य के बारे में कुछ भी नहीं पता। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राज्य के 1.72 लाख शिक्षामित्रों का भविष्य अधर में लटक गया है। तमाम जिलों में शिक्षामित्रों का प्रदर्शन जारी है। शिक्षामित्रों के अलावा टीईटी, कम्प्यूटर शिक्षक और अब बीटीसी प्रशिक्षित शिक्षक भी अपनी नौकरी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। आज-कल यूपी में धरने-प्रदर्शन और आंदोलन का मौसम लौट आया है। तस्वीरों में देखिये यूपी के शिक्षकों का हाल..

लखनऊ में शिक्षामित्रों का उग्र प्रदर्शन

शिक्षामित्रों के समायोजन के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने के बाद लखनऊ में शिक्षामित्रों ने भाजपा मुख्यालय का घेराव कर उग्र प्रदर्शन किया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …