फतेहपुर: सनकी दरोगा ने सर्विस रिवॉल्वर से हेड कांस्टेबल को गोली मार उतारा मौत के घाट, मचा बवाल

डीएन संवाददाता

किशनपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर चौकी इंचार्ज लक्ष्मीकांत सिंह सेंगर उर्फ कुँवर बेधड़क ने अपने ही चौकी में तैनात एक हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद पूरे महकमे में सनसनी मच गयी है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव खबर..

मृत सिपाही
मृत सिपाही

फतेहपुर: किशनपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर चौकी इंचार्ज लक्ष्मीकांत सिंह सेंगर उर्फ कुँवर बेधड़क ने अपने ही चौकी में तैनात हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया। आरोपी दरोगा को हिरासत में ले लिया गया है। इस खबर के बाद लोग दबी जुबान से इस हत्या को जातिगत नजरिये से भी जोड़ कर देख रहे हैं। 

 

आरोपी दरोगा

 

एसपी राहुल राज ने बताया कि शनिवार रात विजयीपुर चौकी इंचार्ज और हेड कांस्टेबल दुर्गेश तिवारी के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई, जिसके बाद चौकी इंचार्ज ने सिपाही को चौकी के अंदर ही गोली मार दी। गोली लगने के बाद दुर्गेश तिवारी को उसके साथी सिपाही किशनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। सिपाही की गम्भीर हालत देखते हुए स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों ने उन्हें सदर अस्पताल फतेहपुर के लिए रेफर किया। सदर अस्पताल पहुँचते ही डॉक्टरों ने कांस्टेबल दुर्गेश को मृत घोषित कर दिया।

 

गोली लगने के बाद सिपाही को अस्पताल ले गये साथी

जानकारी के मुताबिक एक शिकायतकर्ता की शिकायत पर सिपाही दुर्गेश तिवारी आरोपी को पकड़कर लॉकअप में डालना चाह रहे थे, जबकि चौकी इंचार्ज उस आरोपी को बचाना चाह रहे थे। इसी बात को लेकर दुर्गेश तिवारी और चौकी इंचार्ज के बीच कहासुनी हो गई। जिसके बाद  दरोगा ने अपना आपा खो दिया और दुर्गेश तिवारी को अपनी ही सर्विस रिवाल्वर से चौकी के भीतर ही गोली मार दी। यह घटना शनिवार रात करीब 11:30 बजे की बतायी जा रही है।

मृतक सिपाही इलाहाबाद के नैनी का रहने वाला था। घटना की जानकारी मिलते ही मृतक के परिजन भी फतेहपुर पहुंच गये। 

सनकी स्वभाव का है दरोगा 

दरोगा बेधड़क हमेशा से विवादों में रहे है। जब आरोपी दरोगा फतेहपुर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत राधानगर चौकी में थे, तब उसने एक बार जिले के कुछ सीनियर पत्रकारों से बदसलूकी की थी, जिसके बाद तत्कालीन एसपी ने दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया था।  

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार