10 लाख से ज्यादा बैंक कर्मियों की आज देशव्यापी हड़ताल से कामकाज प्रभावित

डीएन ब्यूरो

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के करीब 10 लाख से ज्यादा कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इस तरह भारी संख्या में बैंक कर्मियों की हड़ताल से कामकाज प्रभावित हो सकता है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में पढ़ें क्या है बैंक कर्मियों के हड़ताल की वजह...

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: विजया बैंक और देना बैंक के बैंक ऑफ बड़ौदा में प्रस्तावित विलय के खिलाफ सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारियों ने आज देशव्यापी हड़ताल किया है। इस तरह भारी संख्या में बैंक कर्मियों की हड़ताल से कामकाज प्रभावित हो सकता है। 

पूरे देश के बैंक शाखाओं में कोई भी कामकाज नहीं होगा। बैंकों में ताले लटके रहेंगे। बता दें कि एक सप्ताह से भी कम समय में यह दूसरी बैंक हड़ताल है। इससे पहले विलय और वेतन संशोधन पर बातचीत को जल्दी निष्कर्ष पर पहुंचाने को लेकर बीते 21 दिसंबर को भी बैंक कर्मियों ने हड़ताल की थी।

इस हड़ताल के बारे में ज्यादातर बैंकों ने अपने ग्राहकों को जानकारी दे दी है। सरकारी बैंकों के विपरीत प्राइवेट बैंकों में सेवाएं सामान्य रहेंगी क्योंकि उनके कर्मचारी हड़ताल में शामिल नहीं होंगे। सरकार ने सितंबर में सार्वजनिक क्षेत्र के विजया बैंक और देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय करने की घोषणा की थी।

विजया बैंक और देना बैंक कमजोर बैंकों के लिए रिजर्व बैंक की त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) नियमों के तहत कुछ पाबंदी में रखे गए है। इसीलिए सभी यूनियनों ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)