बलरामपुर : जिले को अव्वल बनाने के लिये डीएम ने दिखाये कड़े तेवर, अफसरों को सख्त निर्देश

डीएन संवाददाता

बलरामपुर के जलाधिकारी ने कलक्ट्रेट सभागार में बैठक कर जिले के विकास कार्यों की समीक्षा की और अधिकारियों के इस बारे में कई जरूरी व सख्त निर्देश जारी भी किये। पूरी खबर.....

बैठक करते डीएम

बलरामपुर: जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने कलेक्ट्र सभागार में विकासा कार्यों की समीक्षा बैठक की। इस बैठक में डीएम ने सख्त तेवर दिखाते हुए अधिकारियों को निष्ठा के साथ काम करने के निर्देश दिए है। उन्होंने साफ किया है कि अगर किसी भी अधिकारी ने काम में कोताही की तो वे कार्यवाही के घेरे में आ सकते है। 

उन्होंने साफ़ किया कि अधिकारियों की लापरवाही के कारण जिला देश के 115 सबसे पिछड़े जिलों में शामिल हैं। नीति आयोग ने 2022 तक जिलो को पिछड़े जिले से मुक्त कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। ऐसे में सभी विभाग इसी काम में लग जाए।

डीएम ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि जिन विभागों में अधिकारियों-कर्मचारियों की कमी है, वहां के रिक्त पदों का ब्यौरा दें ताकि अप्रैल माह तक इन रिक्त पदों को नियुक्ति की जाए। इसके अलावा उन्होंने चिकित्सा विभाग को भी कार्यशैली में सुधार लाने के निर्देश जारी किये।

इस दौरान उन्होंने कौशल विकास मिशन के तहत अभियान चलाकर युवाओं को प्रशिक्षित करने के निर्देश दियेा और शहर में शहर में साफ-सफाई की व्यवस्था चुस्त दुरूस्त करने के भी निर्देश जारी किये।  इस बैठक में सीडओ फूलचंद जायसवाल, सीएमओ डा घनश्याम कुमार, पीडी जर्नादन सिंह, डीडीओ शिवकुमार, अपर सीएमओ डा. जयंत कुमार सहित विभिन्न विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार