ATM तो सभी इस्तेमाल करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है यह जल्द बंद होने वाला है!

डीएन ब्यूरो

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने इस बात का संकेत देते हुए कहा है कि भारत में जिस तरह से प्रौद्योगिकी का बढ़ावा हो रहा है, उसके कारण जल्द ही डिजिटल लेनदेन मोबाइल वॉलेट्स और बायोमीट्रिक माध्यमों के जरिए किए जाएंगे और एटीएम कार्ड चलन से बाहर चले जाएंगे।

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत
नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत

नई दिल्ली: नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने भविष्य में एटीएम और डेबिट-क्रेडिट कार्ड का चलन बंद होने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि भारत में टेक्नोलॉजी के बढ़ते प्रसार के कारण डिजिटल ट्रांजेक्शन मोबाइल वॉलेट्स और बायोमीट्रिक माध्यमों के जरिए ही किए जाएंगे और एटीएम, क्रेडिट, डेबिट कार्ड्स का चलन खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत में फिजिकल बैंकिंग लगभग समाप्त हो चुकी है और यहां टेक्नोलॉजी का इतनी तेज रफ्तार से प्रयोग हो रहा है कि अगले तीन-चार सालों में डिजिटल ट्रांजेक्शन मोबाइल वॉलेट और बायोमीट्रिक माध्यमों से ही होंगे।

फाइल फोटो

कांत ने पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (पीएचडीसीसीआई) की व्यापार और निवेश सेवा सुविधाएं (टीआईएफएस) लॉन्च करने के मौके पर कहा कि टेक्नोलॉजी का भारत के विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहेगा।

उन्होंने कहा कि दुनियाभर में छाई आर्थिक मंदी के बावजूद भारत का 7.6 प्रतिशत की दर से विकास हो रहा है। अमिताभ कांत ने कहा कि अमेरिका और यूरोप की आबादी वृद्ध होती जाएगी, जबकि भारत की युवा आबादी होगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …