अमेरिकी राष्‍ट्रपति से तीसरी वार्ता को तैयार हैं किम जोंग उन, ये रखी शर्त

डीएन ब्यूरो

किम जोंग उन ने अपने भाषण में कहा कि फरवरी में ट्रंप के साथ शिखर वार्ता इसलिए विफल रही क्योंकि अमेरिका ने एकतरफा मांगें रखी थी लेकिन निजी तौर पर अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ उनके संबंध अच्छे हैं।

फाइल फोटो

प्‍योगयांग: सिंगापुर और हनोई में बातचीत के बाद अब अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन से तीसरी शिखर वार्ता कर सकते हैं। इस शिखर वार्ता के लिए वह काफी हद तक तैयार हैं। इसका जिक्र भी उन्‍होंने खुद पत्रकारों से किया।

वहीं इस पर उत्‍तरी कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन ने शनिवार को वार्ता की इच्‍छा जाहिर करते हुए कहा कि अगर अमेरिका उचित और आपसी सहमति से समझौता करेगा।

परमाणु हथियारों को किया जाए खत्‍म

ट्रंप ने पत्रकारों से कहा, अमेरिका छोटी नहीं, बल्कि बड़ी निर्णय की ओर आगे बढ़ना चाहते हैं। यह बड़ा निर्णय परमाणु हथियारों के निर्माण पर पूरी तरह से रोक और इन हथियारों के खात्‍मे को लेकर है। हमारा लक्ष्‍य स्‍पष्‍ट है कि कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह से परमाणु हथियारों से मुक्‍त रहे। 

उत्तर कोरिया पर नहीं लगाना चाहते नए प्रतिबंध

ज्ञात हो कि इस समय दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जे अमेरिका की यात्रा पर है। उनके अमेरिका में होने के दौरान ट्रंप ने उत्तर केारिया को लेकर जो भी बयान दिया है वह मून के सामने ही दिया है। वह कहते हैं कि उत्तर कोरिया पर किसी भी तरह के नए प्रतिबंध नहीं लगाना चाहते हैं।

दो बार दोनों नेता कर चुके हैं वार्ता

गौरतलब है कि आठ माह के अंदर विश्‍व के दो प्रमुख मीडिया में छाए रहने वाले नेताओं ने दो वार्ताएं की थी।  पिछले साल जून में इन दोनों नेताओं के बीच सिंगापुर में पहली ऐतिहासिक बैठक हुई थी। उत्तर कोरिया के नेता किम और अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने फरवरी माह में वियतनाम के हनोई में मिले थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार