शांत गुजरात में आखिर किसने फैलाया तनाव, क्यों वापस लौट रहे हैं यूपी और बिहार के लोग?

डीएन ब्यूरो

गुजरात की शांत फिजाओं में बीते एक सप्ताह से तेजी से तनाव फैल रहा है। कई जगहों पर गैर-गुजरातियों पर हमले किये जा रहे है। स्थिति यह है कि उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग तेजी से गुजरात छोड़ने लगे है। आखिर, ऐसा क्या हुआ गुजरात में.. जानिये, डाइनामाइट न्यूज़ की इस एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में..

गुजरात से अपने प्रांतों के लिए वापस लौटते लोग
गुजरात से अपने प्रांतों के लिए वापस लौटते लोग

अहमदाबाद: उत्तर गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 माह की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद राज्य में उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों पर लगातार हमले हो रहे हैं। हमलों से भयभीत होकर के सैकड़ों लोग अब गुजरात छोड़ चुके है। बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को राज्य छोड़ने का फरमान जारी करने के संदेश वायरल होते जा रहे है। गुजरात छोड़ने वालों का सिलसिला जारी है। अब तक सैकड़ों परिवार गुजरात छोड़कर जा चुके हैं।

राज्य के पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा का कहना हिंसक घटनाओं से निपटने के संवेदनशील क्षेत्रों में एसआरपी की 17 कंपनियां तैनात की गई है। जगह-जगह सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है। अफवाह फैलाने वालों की पहचान कर ली गई है और अब तक कई लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।
पुलिस महानिदेशक के मुताबिक पुलिस ने अब तक 42 मामले दर्ज कर 342 आरोपितों को पकड़ा है।

गुजरात में बीते 28 सितम्बर को बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद से अन्य प्रांतों के लोगों पर हमले हो रहे हैं। ठाकोर सेना नामक सामाजिक संगठन के कार्यकर्ता साबरकांठा, मेहसाणा, गांधीनगर, अहमदाबाद सहित कई इलाकों में बसे उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को निशाना बना रहे हैं।
गुजरात की औद्योगिक इकाइयों श्रमिकों के साथ भी ठाकोर सेना ने मारपीट की है। इसके बाद से गुजरात के कई शहरों से अन्य राज्यों के लोग पलायन करने लगे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार