‘नेशनल वोटर्स डे’आज, जानिये..आखिर क्यों 25 जनवरी को ही मनाया जाता है ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’

डीएन ब्यूरो

देश में हर साल 25 जनवरी के दिन ‘नेशनल वोटर्स डे’ यानि ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ देश को मतदान के प्रति जागरुक करने के लिए मनाया जाता है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में पढ़ें आखिर क्यों 25 जनवरी को ही ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ मनाया जाता है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: आज पूरे देश में ‘नेशनल वोटर्स डे’ मनाया जा रहा है। देश में हर साल 25 जनवरी के दिन ‘नेशनल वोटर्स डे’ यानि ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ देश को मतदान के प्रति जागरुक करने के लिए मनाया जाता है। साथ ही यह दिवस खासकर युवाओं को मतदान करने और राजनीतिक प्रतिक्रिया पर ध्यान देने के लिए हर साल मनाया जाता है। इस  साल इस दिवस को मनाने के लिए ‘No Voter to be Left Behind’ यानि ‘कोई भी मतदाता पीछे नहीं छूटना चाहिए’ थीम रखी गई है।

आज ही के दिन क्यों मनाया जाता है यह दिवस? 
हर साल 25 जनवरी को मनाया जाने वाला ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ सबसे पहले साल 2011 के 25 जनवरी को मनाया गाया था। बता दें कि 25 जनवरी, 1950 को चुनाव आयोग की स्थापना की गई थी इसीलिए 2011 में 25 जनवरी को इस दिवस मनाने का फैसला लिया गया। इस तरह इस साल यह नौवां मतदाता दिवस है। बता दें कि चुनाव आयोग ने चुनावी प्रक्रिया में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए 2009 में सिस्टमेटिक वोटर्स एजुकेशन एंड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन स्ट्रेटजी अपनाई थी।


इस दिवस को मनाने का क्या है उद्देश्य? 
‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ मनाने के पीछे का उद्देश्य वोटरों को उनके अधिकारों और लोकतंत्र के प्रति कर्तव्यों की याद दिलाना है। इस दिवस को मनाने के पीछे का महत्वपूर्ण कारण हर साल नए युवाओं को मतदान करने के लिए जागरुक करना है जिससे वह चुनाव आयोग द्वारा देश में कराने वाले राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति, लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा चुनाव में भाग ले सकें और अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर सकें।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …