नियमित उड़ान के दौरान लड़ाकू विमान मिग-27 दुर्घटनाग्रस्‍त, पायलट सुरक्षित

डीएन ब्यूरो

राजस्थान के सिरोही जिले के शिवगंज इलाके में रविवार को सेना का फाइटर प्लेन मिग-27 क्रैश हो गया। दोनों पायलट सुरक्षित हैं। घटना की सूचना पर एयरफोर्स, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पहुंच गए हैं।

घटनास्थल की तस्वीर
घटनास्थल की तस्वीर

जोधपुर: राजस्थान के जोधपुर में मिग-27 यूपीजी लड़ाकू विमान दुघर्टनाग्रस्‍त हो गया है। यह विमान अपने नियमित मिशन पर था। एयरक्राफ्ट में सवार दोनों पायलट सुरक्षित हैं। प्राप्‍त सूचना के अनुसार यह फाइटर प्‍लेन सिरोही के गोंडाना में शिवगंज के पास दुर्घटना का शिकार हुआ है।


 

विमान दुर्घटना पर भारतीय वायुसेना ने बयान जारी करते हुए कहा, आज सुबह 11.45 पर मिग-27 यूपीजी विमान ने उतरलाई एयर फोर्स बेस से उड़ान भरी थी। जिसके बाद उसके इंजन में कुछ खराबी आ गई जिसके कारण वह जोधपुर से 120 किलोमीटर दूर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दोनों पायलट सुरक्षित हैं। उन्‍हें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है।  

दुर्घटनाग्रस्‍त लड़ाकू विमान का एक हिस्सा

साथ ही प्राथमिक सूचनाओं के आधार पर जमीन पर किसी तरह का कोई नुक्‍सान नहीं हु‍आ है। दुर्घटना के कारणों की जांच करने के लिए एक कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश दे दिया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले 8 मार्च को राजस्थान के ही बीकानेर में मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। हालांकि पायलट विमान से सुरक्षित निकल गया था। यह लड़ाकू विमान मिग-21 बीकानेर से लगभग 12 किलोमीटर दूर शोभासर की ढाणी के पास दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।

वहीं जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में पिछले दिनों भारतीय वायुसेना का एक हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था। इस हादसे में दो पायलट, चार जवान और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी। 

ज्ञात हो वर्ष 1963 के बाद से 1,200 से अधिक मिग लड़ाकू विमानों को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया है। एक जनवरी, 2019 को लोकसभा में दी गई जानकारी के अनुसार, भारतीय वायुसेना में अभी भी मिग के 31 लड़ाकू स्क्वाड्रन चालू हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार