DN Exclusive महराजगंज: स्कूली बच्चों के लिये आई सरकारी दवाईयों को शिक्षा विभाग ने आग लगाकर किया नष्ट

डीएन संवाददाता

सरकार बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिये प्रतिवर्ष लाखों रूपये खर्च कर स्कूलों में कई तरह की दवाईयां भेजती है लेकिन शिक्षा विभाग की उदासीनता देखिये वह इन दवाईयों को बच्चों में वितरित तक न कर सका जिसके बाद विभाग ने आग लगाकर दवाओं को नष्ट कर दिया। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

आग के हवाले की गई दवायें
आग के हवाले की गई दवायें

महराजगंज: बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाने सरकार के प्रयास भले ही कितने अच्छे क्यों न हों, लेकिन स्थानीय बेसिक शिक्षा विभाग की लापरवाही से सरकार के इन प्रयासों के बड़ा झटका लगा है। साथ ही इस मामले में सरकार की भी किरकिरी हो रही है। बच्चों के उत्तम स्वास्थ्य के लिए सरकार द्वारा भेजी गयी दवाईयां जब पड़े-पड़े खराब हो गयी तो विभाग ने इन दवाओं को बीआरसी परिसर में आग के हवाले कर दिया।

 

 

इन दवाईयों को बीआरसी मिठौरा में रखा गया था लेकिन शिक्षा विभाग इन दवाईयों को बच्चों में  वितरित नहीं कर सका जिसके बाद इन्हें आग लगाकर नष्ट कर दिया गया। 

क्या कहे बीएसए

इस बारे में डाइनामाइट न्यूज़ ने जबा महराजगंज के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ला से जब बात की तो उनका कहना था कि मामला बहुत ही संगीन है और जाँच करा कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने इसके लिए स्वास्थ्य विभाग व एबीएसए से इस सम्बन्ध में जानकारी लेने की बात कही।

जिन दवाईयों को किया गया आग के हवाले

स्वास्थ्य विभाग ने प्राथमिक स्कूलों के बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए आयरन व कीड़ी की दवा भेजी थी, जिनको आग लगाकर नष्ट कर दिया गया है। नष्ट की जाने वाली दवाओं की कीमत हजारों-लाखों रूपये बताई जाती है। 

विभाग हुआ फैल

स्वास्थ्य विभाग से बीआरसी में आई इन दवाओं को एबीएसए के जरिये एनपीआरसी से प्राथमिक विद्यालयो में बच्चों को वितरण करने का जिम्मा था, जिसमे विबाग फैल रहा। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …