Chaitra Navratri 2020: जानिएं क्या है नवरात्र के दूसरे का महत्व, क्यों की जाती है मां ब्रह्मचारिणी की उपासना

डीएन ब्यूरो

25 मार्च से नवरात्र शुरू हो चुके हैं। आज नवरात्र का दूसरा दिन है। आज के दिन मां ब्रह्मचारिणी की उपासना की जाती है। जानिए क्यों की जाती है मां ब्रह्मचारिणी की पूजा और क्या मिलते हैं फायदें। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ विशेष..

मां ब्रह्मचारिणी (फाइल फोटो)
मां ब्रह्मचारिणी (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः कलश स्थापना के साथ ही 25 मार्च से चैत्र नवरात्र शुरु हो गई है। इन नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा अर्चना की जाती है। नवरात्र के पहले दिन जहां मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना की जाती है वहीं दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की उपासना की जाती है।

मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से व्यक्ति को अपने कार्य में सदैव विजय प्राप्त होता है। मां ब्रह्मचारिणी दुष्टों को सन्मार्ग दिखाने वाली हैं। माता की भक्ति से व्यक्ति में तप की शक्ति, त्याग, सदाचार, संयम और वैराग्य जैसे गुणों में वृद्धि होती है। 

यह भी पढ़ें: 21 दिन के लॉकडाउन के बीच इस तरह करें नवरात्र, बरतें ये सावधानियां

मां ब्रह्मचारिणी को ज्ञान, तपस्या और वैराग्य की देवी माना जाता है। खासतौर से विद्यार्थियों के लिए इनकी पूजा बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार