कैराना-नूरपुर उपचुनाव: EVM मशीनों में गड़बड़ी पर सपा-भाजपा एक, निर्वाचन आयोग से मिला प्रतिनिधिमंडल

डीएन संवाददाता

कैराना और नूरपुर में चल रहे मतदान के बीच EVM मशीनों में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर विपक्षी दल सपा और भाजपा का प्रतिनिधिमंडल लखनऊ स्थित मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू के पास शिकायत लेकर पहुंचा। पूरी खबर..


लखनऊ: कैराना और नूरपुर में चल रहे मतदान के बीच कई जगह से ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतें सामने आ रही है। इसी बीच सपा और भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू से मुलाकात की और इस मामले को लेकर उन्हें अपना शिकायती पत्र सौंपा।

इस मौके पर सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी से मतदान बाधित होने को लेकर मतदान के लिए समय बढ़ाए जाने और जरूरत पड़ने पर पूरी चुनाव प्रक्रिया को रद्द करने की मांग उठाई।

 

समाजवादी पार्टी की शिकायतों को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने आश्वस्त किया कि जहां-जहां ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतें आई हैं, उन्हें बदलने की प्रक्रिया चल रही है और जितनी देर मतदान प्रक्रिया बाधित हुई है, उतना अतिरिक्त समय वोटिंग के लिए दिया जाएगा और जरूरत पड़ी तो रात को 12:00 बजे तक भी वोट डलवाए जाएंगे।

 

 

भाजपा का प्रतिनिधिमंडल भी ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर के साथ पहुंचा। राठौर ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू से ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी का मुद्दा उठाया। जिसमें मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने भाजपा के प्रतिनिधिमंडल को भी आश्वस्त किया कि जिन मतदान केंद्रों से गड़बड़ी की शिकायतें आई है, वहां पर जल्दी से जल्दी नई मशीनें पहुंचाई जा रही हैं, ताकि मतदान प्रक्रिया को फिर से सुचारु रुप से चालू किया जा सके।  वहीं भाजपा द्वारा ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी को लेकर विपक्ष के आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताया।

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने कहा कि विपक्ष मामले पर राजनीति कर रहा है। जबकि ईवीएम मशीनों की गड़बड़ी को लेकर हमने भी चुनाव अधिकारी से शिकायत की है। कुल मिलाकर कैराना और नूरपुर उपचुनाव में बड़ी संख्या में ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की बातें सामने आ रही हैं। हालांकि इस पर निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जो भी गड़बड़ी आई है, उनको दूर किया जा रहा है।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार