गाजियाबाद: खनन माफिया खुलेआम कर रहे बालू का खनन, शासन-प्रशासन नतमस्तक

डीएन संवाददाता

ट्रॉनिक सिटी थाना क्षेत्र में खनन माफियाओं द्वारा बड़ी-बड़ी पोकलेन मशीनों द्वारा किया जा रहा बालू का अवैध खनन किया जा रहा है, शासन-प्रशासन के द्वारा खनन माफियाओं के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की जा रही है। पूरी खबर..

 पोकलेन मशीनों  द्वारा अवैध खनन
पोकलेन मशीनों द्वारा अवैध खनन

गाजियाबाद: ट्रॉनिक सिटी थाना क्षेत्र में खनन माफियाओं के आगे पुलिस-प्रशासन नतमस्तक होती हुई नजर आ रही है। यहां खनन माफियाओं का इस कदर बोलबाला है कि वह नियमों को ताक पर रखकर खनन करते दिखाई देते हैं, साथ ही लोगों को धमकी देते है कि उनके खनन पर पुलिस तक को आने की हिम्मत नही है।

गौरतलब है कि ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र के हरमपुर में अवैध बालू खनन धड़ल्ले से किया जा रहा है। जिस पर कार्यवाही न होने पर प्रशासन की भूमिका भी संदिग्ध प्रतीत होती है। पट्टा धारक परमिशन के मानकों को दरकिनार कर खुलेआम दूसरे क्षेत्र में खनन कर रहे है तथा बड़ी-बड़ी पोकलेन मशीनों द्वारा कई फिट गहरे गढ्ढे खोदकर बालू का खनन किया जा रहा है।

वहीं खनन के करीब 500 मीटर पहले हर समय दर्जन भर युवक हथियारों से लैस बैठे रहते है। जिससे वे कभी भी किसी अप्रिय घटना को अंजाम दे सकते है। हलांकि लगभग 2 महीने पहले तत्कालीन उपजिलाधिकारी अजय पाल शर्मा ने गांव पचायरा के खनन की तीन पोकलेन मशीनों को चलती धारा में चलते हुए सीज किया था। जिन्हें 15 लाख रुपये राजस्व वसूल कर छोड दिया गया था।

नवनियुक्त उपजिलाधिकारी सतेंद्र कुमार सिंह की अवैध खनन पर कार्यवाही न करते देख भूमिका संदिग्ध दिखाई देती है। सूत्रों के अनुसार पट्टा धारक ने खनन अधिकारी से बदरपुर की जमीन पर अनुमति ली हुई है। लेकिन उसकी आड़ में हरमपुर की जमीन पर धड़ल्ले से मानकों को ताक पर रखकर अवैध खनन किया जा रहा है। जहां यमुना के बीच पोकलेन मशीनों द्वारा बालू खोदकर ओवरलोड गाड़ियों में भरते आसानी से देखा जा सकता है।








संबंधित समाचार