14,580 शिक्षकों की बंपर भर्ती के लिए करें आवेदन.. ये है आवेदन की आखिरी तारीख

डीएन ब्यूरो

शिक्षक पद पर सरकारी नौकरी खोजने वालों के लिए सुनहरा मौका है। छत्‍तीसगढ़ सरकार ने जारी की है 14580 शिक्षकों के भर्ती अधिसूचना। पदों की संख्‍या, आवेदन की आखिरी तारीख और अन्‍य जानकारी के लिए पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ की यह विशेष रिपोर्ट।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली: छत्‍तीसगढ़ व्यापम (व्यावसायिक परीक्षा मंडल) ने 14580 शिक्षकों की बंपर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। योग्‍य इच्‍छुक आवेदनकर्ता 25 अप्रैल से पहले आवेदन कर सकते हैं।  

छत्‍तीसगढ़ व्यापम ने व्‍याख्‍याता, शिक्षक, सहायक शिक्षक और व्‍यायाम शिक्षक पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किये हैं। आवेदन केवल ऑनलाइन ही स्‍वीकार किए जाएंगे। छत्‍तीसगढ़ शासन द्वारा जारी अधिसूचना की संख्‍या क्रमांक/व्‍यापम/2019 है। इसकी सूचना रायपुर छत्‍तीसगढ़ के दैनिक समाचार पत्रों में  भी प्रकाशित की गई है। 

इन पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता मानदंडों के अनुसार किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान/ विश्वविद्यालय से स्‍नातक/बीएड/समकक्ष योग्यता होना चाहिए। इसमें आयु सीमा का मानदंड 18 से 40 वर्ष है। इन पदों पर चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्‍कार के आधार पर किया जायेगा।

महत्वपूर्ण जानकारियां
आवेदन का तरीका: ऑनलाइन
आवेदन की अंतिम तारीख: 25 अप्रैल 2019

कुल पद: 14580
व्‍याख्‍याता (ई & टी कैडर): 3177
शिक्षक (ई & टी कैडर): 4696
शिक्षक इंग्लिश मीडियम (ई कैडर): 456
व्‍यायाम शिक्षक (ई & टी कैडर): 745
सहायक शिक्षक (ई & टी कैडर): 4000
सहायक शिक्षक विज्ञान लेबोरेट्री (ई & टी कैडर): 1200
सहायक शिक्षक इंग्लिश (ई कैडर): 306

शैक्षणिक योग्यता: किसी मान्यता प्राप्त संस्थान/विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन/बीएड/समकक्ष।

आयु सीमा: 18 से 40 वर्ष।

चयन प्रक्रिया: लिखित परीक्षा और साक्षात्‍कार

कैसे करें आवेदन
योग्य आवेदक निर्धारित प्रारूप के तहत 25 अप्रैल 2019 तक आधिकारिक वेबसाइट से आवेदन कर सकते हैं। 

अधिक जानकारियों के लिए यहां देखें।
http://cgvyapam.choice.gov.in/sites/default/files/Press%20Note%20%282%29_0.pdf

आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें।
http://cgvyapam.choice.gov.in

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या आपको लगता है जनता के असली मुद्दों को लेकर मोदी और राहुल के बीच आमने-सामने की डिबेट होनी चाहिये?