रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर जा रही नाव पलटी, 12 की मौत, 35 लापता

डीएन ब्यूरो

बांग्लादेश और म्यांमार के बीच नफ नदी में एक नाव के डूबने से तकरीबन 12 रोहिंग्या शरणार्थियों की मौत हो गई, जबकि कई 35 लापता हो गये हैं।

राहत और बचाव कार्य जारी
राहत और बचाव कार्य जारी

ढाका: बांग्लादेश और म्यांमार के बीच नफ नदी में रविवार रात को एक नाव के डूबने से तकरीबन 12 रोहिंग्या शरणार्थियों की मौत हो गई जबकि कई  35 लापता हो गये हैं । बताया जा रहा है कि ये सभी रोहिंग्या म्यांमार से बांग्लादेश आ रहे थे, इस दौरान उनकी नाव पलट गई। राहत और बचाव का कार्य शुरू कर दिये गये है।

अभी तक नौका में सवार लोगों की सही संख्या का पता नहीं चल सका है। बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड के अधिकारी अब्दुल जलील ने मीडिया को बताया कि रात भर चले बचाव अभियान के बाद अभी तक 12 शव बरामद किए जा चुके हैं। मरने वालों में 10 बच्चे, एक महिला और एक पुरुष शामिल हैं। उन्होंने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है।

बांग्लादेश दुनियां के सबसे बड़े शरणार्थी कैंप बनाने पर काम कर रहा है। इस कैंप में लगभग 8 लाख रोहिंग्या शरणार्थियों को जगह दी जा सकेगी। यह कैंप म्यांमार सीमा के पास ही कुतुपलोंग में बनाया जा रहा है। अभी तक के आंकड़ों के मुताबिक लगभग 4 लाख रोहिंग्या बांग्लादेश में शरण ले चुके हैं।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार