बच्चों की पढ़ाई के लिए किडनी बेचने को मजबूर है ये मां..

डीएन संवाददाता

बच्चों की अच्छी परवरिश और अच्छी शिक्षा की चाह लिए एक मां अपनी किडनी बेचने के लिए मजबूर है। इस रिपोर्ट में पढ़िए पूरा मामला..

बेबस मां और बच्चे
बेबस मां और बच्चे

आगरा: बच्चों की अच्छी परवरिश का सपना हर मां-बाप बुनते हैं और उन्हें पूरा करने के लिए हरसंभव प्रयास भी करते हैं। लेकिन आगरा की एक मां अपने बच्चों की अच्छी परवरिश और बेहतर शिक्षा के लिए अपनी किडनी बेचने के लिए तैयार है। सुनने में थोड़ा अजीब लगेगा लेकिन ये सच है। एक मां अपनी आर्थिक स्थिति से इतनी अधिक परेशान है कि उसने फेसबुक पर अपनी किडनी बेचने का प्रस्ताव रखा। उसने फेसबुक पर लिखा कि जिस किसी को भी किडनी की जरूरत हो वो उससे संपर्क कर सकता है।

आरती शर्मा

बेबस मां ने अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक मदद की गुहार लगाई लेकिन हर तरफ उसको मदद की बजाय केवल आश्वासन ही मिला। इसके बाद इस मां ने सोशल नेटवर्किंग का रास्ता चुना है। उसने अपने बच्चों को पढ़ाने की खातिर फेसबुक पर चिट्ठी डाल दी। इसमें लिखा कि जिसको भी गुर्दे की जरूरत पड़े, वह उससे संपर्क कर सकता है।

आरती कहती हैं, 'मैं मुख्यमंत्री जी से मिली थी उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया था कि जल्दी ही मेरी मुश्किलों का समाधान निकल जाएगा लेकिन अभी तक कुछ भी नहीं हुआ। ऐसे में मेरे पास कोई भी दूसरा रास्ता नहीं बचा है।’

क्यों मजबूर है मां

आगरा के रोहता क्षेत्र में रहने वाली आरती शर्मा ने फेसबुक पर एक सामाजिक संगठन के माध्यम से एक पत्र अपलोड कराया कि वह अपनी तीन बेटियों और एक बेटे को पढ़ाने की खातिर अपनी किडनी बेचना चाहती है। आरती शर्मा के पति मनोज शर्मा कुछ समय पहले रेडीमेड कपड़ों का काम करते थे लेकिन अचानक उनका व्यवसाय पूरी तरह से बंद हो गया।

सीबीएसई में पढ़ते थे बच्चे

आरती शर्मा की तीन बेटियां और एक बेटा इंग्लिश मीडियम में सीबीएसई बोर्ड से पढ़ाई कर रहे थे लेकिन तीन महीने पहले फीस न भरने के कारण चारों बच्चों को स्कूल से बाहर निकाल दिया गया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार