सावन स्पेशल: 'शिवभक्त' सांप तीन सौ वर्षों से कर रहा पाताली शिवलिंग की परिक्रमा

डीएन संवाददाता

सावन के पवित्र माह समेत तमाम मौकों पर इंसान भगवान शिव की अराधना करता रहता है। लेकिन हम यहां आपको एक ऐसे 'शिवभक्त' सांप की कहानी बताने जा रहे हैं जो तीन सौ वर्षों से पाताली शिवलिंग की परिक्रमा कर रहा है।

फतेहपुर के सदाशिव धाम मंदिर

फतेहपुर: फ़तेहपुर के हंसवा के समीप मिचकी गाँव मे स्थित सदा शिव धाम पूरे क्षेत्र में प्रसिद्ध है। ऐसी मान्यता है कि यहां पर लगभग तीन सौ वर्ष पूर्व पाताल से शिवलिंग प्रकट हुआ था। तभी से यह सदाशिव धाम लोगों की आस्था का केंद्र बन गया है।

यह भी पढ़ें: सावन स्पेशल: शिवलिंग पर गलती से भी न चढ़ाएं ये चीजें

डाइनामाइट न्यूज़ से खास बातचीत में मंदिर के मुख्य पुजारी प्रकाशानंद महराज ने बताया कि ऐसी मान्यता है कि यहां जो शिवलिंग है वो पाताल से प्रकट हुआ है। उन्होंने कहा कि वैसे पूरे वर्ष यहां भक्तों का तांता लगा रहता है परंतु श्रावण माष का यहां विशेष महत्व है। पूरे जनपद से भक्त यहां पूजा पाठ, जप और  दर्शन करने के लिए आते है। लोगों का ऐसा मानना है कि सदाशिव धाम आने के बाद उनके कष्ट दूर हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: सावन स्पेशल: इस विधि से करें शिव की पूजा, खत्म होंगे कई दोष

सांप करता है सदाशिव धाम की परिक्रमा

मंदिर के मुख्य पुजारी और आस पास ग्रामीणों के मुताबिक यहां रोज रात को करीब 12 बजे के आस पास मंदिर परिसर में एक साँप आता है और पूरे मंदिर की परिक्रमा करके फिर वापस चला जाता है। बताया जाता है कि यह सांप पिछले तीन सौ वर्षों से यहां स्थित शिवलिंग की अलग-अलग मौकों पर परिक्रमा  करता रहता है। यहां के लोग इस अनसुलझे रहस्य की खूब चर्चा करते हैं। यहां प्रति वर्ष बसंत पंचमी में एक विशाल मेले का आयोजन भी होता है जिसमे पूरे जिले से लोग आते है                       

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार