26 जिलों के डीएम को नहीं है सीएम के आदेशों की परवाह

डीएन संवाददाता

सीएम योगी आदित्यनाथ के जारी फरमान के बाद भी कई डीएम अपने कार्यालय से नदारद रहे। मुख्य सचिव ने ऐसे जिलाधिकारियों को चिन्हित कर नोटिस भेजा है।

मुख्य सचिव द्वारा जारी नोटिस
मुख्य सचिव द्वारा जारी नोटिस

लखनऊ: योगी सरकार के लाख प्रयासों के बाद भी राज्य का प्रशासनिक महकमा सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए गए कड़े निर्देशों के पालन करने में राज्य के 26 जिलाधिकारियों की घोर लापरवाही सामने आई है। यह लापरवाही शासन द्वारा किए गए आकस्मिक फोन कॉल्स से सामने आई, जिससे 26 जिलों के डीएम सीएम योगी के रडार पर आ गए हैं। लगता है कि इन 26 जिलों के जिलाधिकारियों को सीएम के आदेशों की भी परवाह नहीं है। दोषी जिलाधिकारियों को नोटिस जारी कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: सुल्तानपुर: दलित हत्याकांड का जायजा लेने पहुंचे डीएम और एसपी

उल्लेखनीय है कि सीएम योगी ने 24 अप्रैल जारी शासनादेश में सभी डीएम को निर्देशित किया था कि वह सुबह 9 बजे से 11 बजे तक अपने कार्यालय में उपस्थित रह कर जन समस्याओं को सुनेंगे और उनका निस्तारण करेंगे। इस शासनादेश के क्रियान्वयन को लेकर शासन ने 17 जुलाई को राज्य के सभी जिलाधिकारियों के कार्यालय में आकस्मिक फोन कर उनकी उपस्थिति के बारे में जानकारी ली, जिसमें 26 जिलों के अधिकारी नदारद पाए गए। शासन ने इसे आदेश की घोर अवहेलना मानी गई। ऐसे सभी अधिकारियों को नोटिस भेजा गया।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री योगी का निर्देश, मेरे दौरे के समय न हो कोई खास इंतजाम

इन जिलों के जिलाधिकारियों को भेजी गई नोटिस

आजमगढ़, बलिया, मऊ, कुशीनगर, देवरिया, महराजगंज, बांदा, चित्रकूट, हमीरपुर, महोबा, झांसी, जालौन, फतेहपुर, गोंडा, बाराबंकी, बदांयू, बिजनौर, बुलंदशहर, आगरा, मैनपुरी, अलीगढ़, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी, रायबरेली, मेरठ और कासगंज

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार