रामनाथ कोविंद की जीत के लिए शब्द नहीं: ग्रामीण

डीएन संवाददाता

देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की जीत के बाद देश के कोने-कोने में जश्न का माहौल है। रामनाथ कोविंद के पैतृक निवास कानपुर के परोंख गांव में पहुंची डाइनामाइट न्यूज़ की टीम..


कानपुर: देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पैतृक गांव डाइनामाइट न्यूज़ की टीम पहुंची। रामनाथ कोविंद की जीत के तुरंत बाद गांव में चारों तरफ खुशी की लहर दौड़ गई। जैसे ही देश के अगले राष्ट्रपति के रूप में रामनाथ कोविंद के नाम की घोषणा हुई उसके बाद ग्रामीणों की खुशी साफ देखने को मिल रही थी। उनके गांव के अलावा समूचा जनपद उनकी जीत के जश्न में डूबा हुआ है। लोग अपने-अपने तरीके से खुशी का इजहार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने साफा पहनाकर रामनाथ कोविंद को दी बधाई

ग्रामीणों का कहना है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की जीत को वो शब्दों में बयां नहीं कर सकते। यह सिर्फ कोविंद की ही जीत नहीं उनकी भी जीत है। ग्रामीणों को विश्वास है कि अब रामनाथ कोविंद देश के राष्ट्रपति बन गए हैं तो उनके गांव का विकास होगा। सुबह से भूखे-प्यासे लोग सिर्फ रिजल्ट का इंतजार कर रहे थे और जश्न की तैयारियों में जुटे हुए थे। रिजल्ट आने के बाद ग्रामीणों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी 20 साल पुराने मित्र

जीत के बाद मनाया जश्न

राष्ट्रपति के लिए रामनाथ कोविंद का नाम घोषित होते ही लोग जश्न मनाने लगे।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार