एक और बाबा पर कोर्ट का फैसला आज, संत रामपाल की बढेंगी मुश्किलें

डीएन ब्यूरो

सतलोक आश्रम के संचालक संत रामपाल पर चल रहे दो केसों पर आज हिसार कोर्ट फैसला सुना सकता है। फैसले के बाद संत रामपाल पर गाज गिर सकती है।

संत रामपाल (फाइल फोटो)
संत रामपाल (फाइल फोटो)

हिसार: साध्वी से रेप मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम को सजा मिलने के बाद अब संत रामपाल पर कानून की गाज गिर सकती है। रामपाल पर चल रहे सतलोक आश्रम प्रकरण में बरवाला थाने में दर्ज दो केसों में आज फैसला आना है। सतलोक आश्रम प्रकरण में सरकारी ड्यूटी में बाधा पहुंचाने और रास्ता रोककर बंधक बनाने के दो अलग-अलग मामले दर्ज हैं। माना जा रहा है कि कोर्ट के फैसले से संत रामपाल की मुश्किलें बढ़ सकती है। 

दो एफआईआर पर होगी सुनवाई

संत रामपाल पर एफआईआर नंबर 426 में सरकारी कार्य में बाधा डालने और 427 में आश्रम में जबरन लोगों को बंधक बनाने का केस दर्ज है। इन दोनों मामलों में संत रामपाल के अलावा प्रीतम सिंह, राजेंद्र, रामफल, विरेंद्र, पुरुषोत्तम, बलजीत, राजकपूर ढाका, राजकपूर और राजेंद्र को आरोपी बनाया गया है। मामले की सुनवाई को देखते हुए हिसार की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है।

23 अगस्त को हुई थी पेशी

संत रामपाल की 23 अगस्त को 201, 426, 427 और 443 के तहत पेशी हुई थी। इसके बाद कोर्ट ने FIR नंबर 426 और 427 का फैसला सुरक्षित रख लिया था।

क्या हुआ था

बरवाला में हिसार-चंडीगढ़ रोड स्थित सतलोक आश्रम में नवंबर 2014 में सरकार के आदेश के बाद पुलिस ने आश्रम संचालक रामपाल के खिलाफ कार्रवाई की थी। पुलिस ने रामपाल को 20 नवंबर 2014 को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने बरवाला थाने में सरकारी ड्यूटी में बाधा डालने सहित अन्य धाराओं में एफआईआर नंबर 426 और जबरन बंधक बनाने सहित अन्य धाराओं में एफआईआर नंबर 427 दर्ज की गई थी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार