कांवड़ यात्रा में फिल्मी गाना बजाने वालों की खैर नहीं..

डीएन ब्यूरो

सावन में निकलने वाली कांवड़ यात्रा के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाया है। सीएम योगी ने कांवड़ यात्रा में उपद्रव मचाने वालों के लिए सख्त कार्यवाही के आदेश दिए।

सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: सावन में होने वाले कांवड़ यात्रा के भक्तों को किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो इसके लिए योगी सरकार ने कमर कस ली है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़े: योगी आदित्यनाथ ने कहा, सहारनपुर हिंसा में डीएम और एसएसपी ने की मूर्खता

23 जुलाई से शुरू होकर 22 अगस्त तक चलने वाली कांवड़ यात्रा के लिए को लेकर सूबे की सरकार तैयारियों में जुट गई है। इस सिलसिले में यात्रा के दौरान कांवड़ियों की सुविधा और सुरक्षा को लेकर सीएम योगी कोई भी लापरवाही बरतना नहीं चाहते हैं। इसी बाबत सीएम योगी ने कावड़ियों को भी हुड़दंग न करने की चेतावनी दी है। उनका फरमान है कि कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे पर प्रतिबंध नहीं रहेगा, लेकिन उसपर सिर्फ भजन ही बजने चाहिए। अगर कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे पर फिल्मी या अश्लील गाना बजा तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़े: सीएम योगी ने जारी किया सरकार के 100 दिन का रिपोर्ट कार्ड..

जानकारी के मुताबिक, इस बैठक के दौरान सीएम योगी ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान ऐसी व्यवस्था हो कि यात्रियों को बदलाव नजर आये। बिना किसी मुसीबत के यात्री अपनी यात्रा को पूरा कर पाएं। वहीं उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा का प्रबंधन सकारात्मक दृष्टिकोण से किया जाए। यह एक धार्मिक यात्रा है, जिसमें हर्षोल्लास का वातावरण रहना चाहिए।

साथ ही सीएम ने निर्देश दिए कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए यात्रियों को निश्चित समय तक ही लाउड स्पीकर बजाने की अनुमति दी जाए। बिना अनुमति के लाउड स्पीकर या डीजे का इस्तेमाल न हो और इस पर भजन ही बजाए जाएं। साथ ही ध्यान रखा जाए कि इस दौरान किसी भी प्रकार का फ़िल्मी या अश्लील गाना न बजे।

यह भी पढ़े: यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ डाइनामाइट न्यूज़ पर LIVE..

अधिकारी कांवड़ियों को इस बात की पूरी जानकारी दें कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं करना है। नियमों का उल्लंघन न हो ये अधिकारियों की जिम्मेदारी हो। साथ ही यात्रा की समुचित तैयारी का जायजा लिया जाए। ये भी निर्देश दिया गया कि कांवर मार्गों पर पर एम्बुलेंस एवं चिकित्सा सहायता शिविर लगाए जाएं। महिलाओं के लिए समुचित व्यवस्था हो।  उनके रुकने के लिए भी कैम्प लगाये जाएं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …