Maharashtra Crisis: अदालत में NCP की ओर से सिंघवी ने दी ये दलील...

डीएन ब्यूरो

महाराष्ट्र में सियासी हलचल आज फिर से कोर्ट में देखने को मिल रही है। आज कोर्ट में मामले की दूसरी सुनवाई की जा रही है। अभी तक फडणवीस, अजीत पवार और राज्यपाल और कपील सिब्बल की तरफ से दलीलें दी गई हैं। जिसके बाद अब एनसीपी और कांग्रेस की तरफ से पेश हुए अभिषेक मनु सिंघवी ने दलीलें दी है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर...

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट में इस वक्त तीखी बहस चल रही है। एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस की तरफ से लगातार फ्लोर टेस्ट की मांग की जा रही है। 

Maharashtra Crisis: शिवसेना के वकील कपिल सिब्बल ने रखी अपनी दलीलें

एनसीपी और कांग्रेस की तरफ से पेश हुए अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या हुई है. हमारी मांग है कि 24 घंटे के अंदर फ्लोर टेस्ट कराया जाए। सिंघवी ने कहा कि अगर दोनों पक्ष फ्लोर टेस्ट को तैयार हैं तो देरी क्यों हो रही है। उन्होंने कहा कि अगर कुछ छिपाया जा रहा है तो फर्जीवाड़ा हुआ है। अजित पवार की चिट्ठी पूरी तरह से फर्जी है। अभिषेक मनु सिंघवी की तरफ से चिट्ठी को फ्रॉड बताने पर मुकुल रोहतगी भड़के और उन्होंने कड़ी आपत्ति जताई है।

Maharashtra Politics: सुप्रीम कोर्ट ने मुकुल रोहतगी से विधायकों के समर्थन को लेकर पूछा बड़ा सवाल..

इस दौरान अभिषेक मनु सिंघवी ने 48 एनसीपी, 56 शिवसेना और 44 कांग्रेस विधायकों का समर्थन पत्र सौंपने की बात कही। वहीं कपिल सिब्बल ने कहा कि वरिष्ठ जनों की देखरेख में फ्लोर टेस्ट हो। इसकी वीडियोग्राफी भी कराई जाए। सभी की दलीलें सुनने के बाद अब कोर्ट में सारे जस्टिस चर्चा कर रहे हैं। थोड़ी ही देर में अब ये महाराष्ट्र में सरकार का भविष्य तय हो जाएगा। 








संबंधित समाचार