महराजगंज: संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, ससुराल वाले फरार

डीएन ब्यूरो

शनिवार को एक विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मृतका के परिवार वालों ने ससुराल वालों पर दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत की है। सूचना मिलते ही जांच में जुटी पुलिस। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

महराजगंज: शनिवार को करीब 12 बजे 28 साल की विवाहित की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतका कुसुम पत्नी गिरिजेश मद्धेशिया के पिता बांकेलाल मद्धेशिया पुत्र रामहरख मद्धेशिया निवासी ग्राम व पोस्ट मंसूरगंज थाना कप्तानगंज जनपद कुशीनगर की तहरीर पर घुघली पुलिस ने मृतका के पति गिरिजेश मद्धेशिया, ससुर परमेश्वर मद्धेशिया, सास सोनकली एवं ननद सुनीता के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें: यूपी में नहीं थम रहा तबादलों का सिलसिला, डेढ़ दर्जन वरिष्ठ पीसीएस अफ़सरों के ट्रांसफ़र

महराजगंज जिले के घुघली थाना क्षेत्र के ग्राम पुरैना खंडी चौरा में रहने वाली कुसुम के पिता का कहना है कि उन्होनें साल 2014 में अपनी बेटी की शादी  पुरैना खंडी चौरा निवासी परमेश्वर मद्धेशिया के पुत्र गिरिजेश से की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही मृतका कुसुम के ससुरालियों ने उसे अक्सर दहेज के लिए उसकी पिटाई करते रहे थें। इसको लेकर पंचायत भी हुई, लेकिन इसके बाद उसके ससुराल वाले नहीं सुधरे।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: कसीनो में सबकुछ गंवाने के बाद नदी में कूदा युवक

बांकेलाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीती रात करीब 8.30 बजे उनकी बेटी कुसुम ने रो-रो कर अपने ससुराल वालों द्वारा पिटाई की बात अपने मां और भाई से फोन पर कही थी। उन्होंने कहा कि बेटी को रात और बारिश की मौसम की बात कह कर समझा अगले दिन उसके घर आने की बात कही थी। अगले दिन कुसुम का भाई को उसे ले जाने के लिए भेजा गया था, लेकिन मौत की खबर आ गई। थानाध्यक्ष मनीष सिंह यादव ने कहा कि मामला आत्महत्या का प्रतीत हो रहा है। गले में हैंगिंग के निशान मिले हैं। तहरीर के आधार पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: नहीं थम रहा बारिश का कहर, कक्षा एक से आठ तक के सभी स्कूल रहेंगे बन्द

 

मौत से दो घंटे पहले कुसुम ने भाई से की थी बात

जनपद कुशीनगर के कप्तानगंज थाना क्षेत्र के मंसूरगंज निवासी कुसुम के भाई सुशील मद्धेशिया ने बाताया कि कुछ दिनों पहले कुसुम ने घर फोन कर बाताया था, कि ये लोग दहेज में मोटरसाइकिल का कम पैसा मिलने की बात कह और पैसा के लिए दबाव बना रहे हैं। उसके बाद कुसुम ने दो दिन पहले भी पैसों के लिए प्रताड़ित करने की बात कही। सुशील ने बाताया कि उसने शनिवार को पुरैना पहुंचने की बात कही थी। शनिवार को जब वह बहन के पास जाने के लिए घर से निकला उसी दौरान सुबह 11.30 बजे पुनः बहन का फोन आया तो उसने बताया कि रास्ते में है,पहुंच रहा हूं। मुझे क्या पता था कि ये लोग मेरी बहन को मार डालेंगे। मैं जब पहुंचा तो दो घंटे पहले जिस बहन से बात हुई थी। उसकी लाश मेरे सामने पड़ी थी और परिवार के सभी लोग फरार थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार