लखनऊ: खाकी का अत्याचार.. अंधेरे में शिक्षक उम्मीदवारों पर लाठीचार्ज, घसीटकर किया बाहर, कई चोटिल

डीएन संवाददाता

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में धांधली को लेकर प्रदर्शन कर रही महिला उम्मीदवारों पर पुलिस का कहर टूट पड़ा। रात के अंधेरे में पुलिस ने खाकी का रौब झाड़ते हुए जमकर लाठीचार्ज किया, जिससे कई महिलाएं चोटिल हो गयी। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


लखनऊ: सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में धांधली के खिलाफ और नियुक्ति की मांग को लेकर शांति पूर्ण तरीके से धरना दे रहे अभ्यर्थियों पर शनिवार देर रात पुलिस का कहर टूट पड़ा। पुलिस ने प्रदर्शनकारी शिक्षक उम्मीदवारों पर लाठियां बरसाई और जबरन घसीटते हुए एससीईआरटी कार्यालय से बाहर कर दिया, जिस कारण कई उम्मीदवार घायल हो गये।

यह भी पढ़ें: शिक्षक भर्ती में धांधली से क्षुब्ध उम्मीदवारों ने गोमती नदी में लगाई छलांग 

 

 

यह भी पढ़ें: शिक्षक भर्ती परीक्षा में धांधली..अफसरों पर गिरी सीएम योगी की गाज, एक निलंबित, पांच हटाये गये 

प्रदेश में 68,500 सहायक अध्यापक की भर्ती में नए-नए दांव-पेंच सामने आ रहे हैं। 68500 भर्ती में 30 और 33 प्रतिशत वाले अभ्यर्थियों को चयन प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया था। नियुक्ति की मांग को लेकर शनिवार दोपहर बाद कई अभ्यर्थियों ने गोमती नदी में छलांग लगा ली थी। जिसके बाद सभी अभ्यर्थी निशांतगंज स्थित एससीईआरटी कार्यालय में धरने पर बैठ गए। 

 

 

देर रात एसपी सीओ समेत कई थानों की फोर्स ने निशांतगंज स्थित एससीईआरटी कार्यालय को घेर लिया और अभ्यर्थियों को बेरहमी से घसीट कर हटाना शुरू कर दिया। मगर अभ्यर्थी हटने को तैयार नही हुए। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इस दौरान महिलाओं से बदसलूकी की खबरें भी आ रही है। पुलिस ने सभी को घसीट कर बाहर निकालने लगे। हालांकि अभ्यर्थी हटे नहीं और बीच सड़क पर प्रदर्शन करने लगे।

यह भी पढ़ें: अध्यापक भर्ती परीक्षा में धांधली.. शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव, CBI जांच पर अड़े अभ्यर्थी 

एससीईआरटी कार्यालय में कुछ उम्मीदवार सुंदरकांड का पाठ करते रहे। इसी दौरान भारी पुलिस बल कैम्पस के अंदर पहुंचा और अभ्यर्थियों को हटाना शुरू कर दिया। जब अभ्यर्थियों ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया। देखते ही देखते बेरहमी से पुलिस कर्मियों ने अभ्यर्थियों को जबरदस्ती घसीट कर हटाना शुरू कर दिया, जिसमें कई अभ्यर्थी चोटिल भी हो गए।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …