यूपी में बदमाशों के हौसले और भी बुलंद, आईपीएस अफसर की बेटी से मनचले ने फोन पर की अभद्रता

डीएन ब्यूरो

देश में महिलाओं के प्रति अपराध की घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रही हैं। मनचले इस हद तक हावी हो चुके हैं कि अफसरों की बेटियाँ भी असुरक्षित नहीं रही हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है जहाँ एक आईपीएस अफसर की बेटी के साथ फोन पर अभद्रता की गई। डाइनामाइटन्यूज़ की इस रिपोर्ट में पढ़ें पूरी डिटेल..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सरकार कड़े से कड़े कानून बना रही है लेकिन फिर भी महिलाओं के प्रति अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। आए दिन यौन अपराध की ऐसी घटनाएँ सामने आती रही हैं कि रूप काप जाएँ। आम लड़कियाँ तो छोड़ो, यहाँ सरकारी अफसरों की बेटियाँ भी सुरक्षित नहीं हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक आईपीएस अफसर की बेटी के साथ यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। आपको बता दें कि एनसीआरबी की हालिया रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं के प्रति अपराध के मामले में उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है। 

यह भी पढ़ें: UP: रिश्वत मांगने वाले तीन मंत्रियों के मुख्य सचिव निलंबित.. करोड़ों के डील के स्टिंग की जांच करेगी SIT

पीड़ित छात्रा की शिकायत है कि फोन पर उससे अभद्रता की गई। छात्रा को आरोपी ने 16 बार फोन करके परेशान किया। जब उसने फोन उठाना बंद कर दिया तो उसने दूसरे अज्ञात नंबर से फोन कर परेशान करना शुरु कर दिया। छात्रा ने परिवार से अपनी पीड़ा बताई। परिवार ने गोमतीनगर थाने में अज्ञात नंबर देकर शिकायत दर्ज करवा दी है। 

पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा

पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। परिवार ने पुलिस को बताया की आरोपी नंबर बदल बदल कर छात्रा को परेशान कर रहा है। परिवार का कहना है कि बीते 30 दिसंबर को छात्रा को एक अज्ञात नंबर से फोन आया था। छात्रा ने जब शख्स का नाम पूछा तो उसने नाम नहीं बताया और अभद्र बातें करने लगा। जब छात्रा ने उसका नंबर ब्लॉक लिस्ट में डाल दिया तो वह दूसरे नंबर से कॉल कर परेशान करने लगा। 

यह भी पढ़ें: लखनऊ: UP STF ने विभिन्न सरकारी नौकरियों में परीक्षा पास कराने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का किया भंडाफोड़, 2 अरेस्ट

पुलिस ने यौन उत्पीड़न का मामला मानते हुए एफआईआर दर्ज कर ली है व अज्ञात नंबर को ट्रेस कर आरोपी की तलाश कर रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार