कुछ राजनीतिक दलों को तीन तलाक पर मुस्लिम महिलाओं का दर्द नहीं दिखता: पीएम मोदी

डीएन ब्यूरो

यूपी के आजमगढ़ में पीएम मोदी ने देश के सबसे लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए जहां अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया वहीं उन्होंने विक्षी दलों पर भी जमकर निशाना साधा। पूरी खबर..,

जनसभा को संबोधित करते पीएम मोदी
जनसभा को संबोधित करते पीएम मोदी

आजमगढ़: पीएम मोदी ने देश के सबसे लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करते हुए जहां उनकी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया वहीं उन्होंने विक्षी दलों पर भी जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि जो दल कल तक एक-दूसरे का मुंह तक नहीं देखना चाहते थे वे अब नोदी को रोकने के लिये एकजुट हो रहे हैं लेकिन वे मोदी को रोक नहीं सकेंगे।

कांग्रेस का नाम लिये बिना पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दल संसद में हो-हल्ला मचाते है, संसद की कार्यवाही को बाधिते करते हैं। ऐसे दलों की सोच तान तलाक के मुद्दे पर सामने आ गयी, उन्होंने संसद नहीं चलने दी। ऐसे दल नहीं चाहते हैं कि तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं के मुक्ति मिले, उनकी पीड़ा को दूर किया जाये। 

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार का हर कदम गरीबों-किसानों के हित में है। हमारा लक्ष्य विकास के नये लक्ष्यों को पाना है। जितना काम देश में पिछले 70 सालों में नहीं हुआ उससे अधिका काम हमारी सरकार ने कर दिखाये। 

पीएम मोदी ने रिमोट कंट्रोल के जरिये ने आजमगढ़ में 340 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखी। इसके बाद उन्होंने अपने भाषण की भोजपुरी से की। उन्होने कहा कि जब तक पूर्व में विकास का सूरज नहीं उगेगा तब तक न्यू इंडिया की उम्मीद पूरी नहीं होगी।

पीएम मोदी ने कहा कि इस एक्सप्रेसवे से यूपी में विकास की गंगा बहेगी। इससे यूपी और दिल्ली की दूरी कम होगी और विकास व रोजगार के कई नये रास्ते खुलेंगे। यह हाईवे राजधानी लखनऊ सहित बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर जैसे पूर्वी उत्तर प्रदेश के महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक शहरों को जोड़ेगा। 

पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर 23 हजार करोड़ से ज्यादा खर्च किये जाएंगे। 340 किलोमीटर के लंबे इस रास्ते में जितने भी शहर-गांव आयेंगे सभी की तस्वीर बदल जायेगी। इस एक्सप्रेसवे को तीन साल में तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। इस एक्सप्रेसवे से दिल्ली एक्सप्रेसवे के जरिए पश्चिम में नोएडा से लेकर पूरब में गाजीपुर तक के उत्तर प्रदेश के सभी प्रमुख शहर आपस में जुड़ जाएंगे। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार