MMTC के 6 दिवसीय गोल्ड फेस्टिवल की हुई शुरुआत..सुरेश प्रभु ने की शिरकत

डीएन ब्यूरो

देश की प्रमुख नवरत्न कंपनी MMTC का धनतेरस और दिवाली पर 6 दिवसीय स्वर्ण उत्सव दिल्ली के अशोका होटल में शुरू हो चुका है। इस उत्सव में ग्राहकों को एक ही छत के नीचे सोने से निर्मित आभूषणों की कई वैरायटी देखने और खरीदने को मिलेगी। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें क्या है MMTC के स्वर्ण उत्सव की विशेषता


नई दिल्लीःदेश की प्रमुख नवरत्न कंपनी मेटल्स एंड मिनरल्स ट्रेडिंग  कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (MMTC)ने वीरवार को धरतेरस एवं दिवाली के अवसर पर बहु प्रतीक्षित वार्षिक गोल्ड फेस्टिवल का आयोजन किया। दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित अशोका होटल में केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग तथा नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने रिबन काटकर और दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन किया। MMTC का यह स्वर्ण उत्सव 1 नंवबर से लेकर 6 नवंबर छोटी दिवाली तक चलेगा। इस स्वर्ण उत्सव में ग्राहक एक ही छत के नीचे देशभर की कई आकर्षक और नई ज्वैलरी की वैरायटी का दीदार कर पायेंगे और इसके साथ ही इन्हें खरीद भी सकेंगे।        

 

 

 

अशोका होटल में चल रहा है MMTC का यह 6 दिवसीय स्वर्ण उत्सव  

 6 दिवसीय स्वर्ण मेले की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहं मिलने वाली ज्वैलरी की शुद्धता, गुणवत्ता और कीमत काफी किफायती और शुलभ है। यहीं नहीं यहां देशभर की ज्वैलरी के अलग-अलग खूबसूरत मॉडल और डिजाइन भी ग्राहकों को उपलब्ध होंगे। स्वर्ण उत्सव में इंडियन गोल्ड कॉइन, चांदी के मेडेलियन, सांची के चांदी से निर्मित सामानों के लिये और भी बहुत कुछ ग्राहकों को यहां देखने को मिलेगा। एमएमटीसी के आभूषण संग्रह में हार सेट, सिकड़ी, पेंडेंट, झूमके-चूड़िया,कंगन आदि बेहद ही आकर्षक और किफायती दरों में ग्राहकों को देखने को मिलेंगी। इस संग्रह में एमएमटीसी ने आधुनिक युग की महिलाओं को लक्षित कर आभूषणों को अच्छी तरह से बहुत ही बेहतरीन गुणवत्ता के साथ तैयार किया है।     

 

 

MMTC रखता है सोने के आभूषणों की पूर्ण शुद्धता का ख्यालः सुरेश प्रभु   

इस मौके पर वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि यह गोल्ड फेस्टिवल एमएमटीसी द्वारा उद्यमी भावना के साथ किये जा रहे प्रयासों और जनता की प्राथमिकताओं को ध्यान में रखकर आयोजित किया गया है। प्रभु ने कहा कि त्यौहारों के समय लोग खासतौर पर सोने की खरीदारी करते हैं और एमएमटीसी इसी त्यौहारी मांग को पूर्ण शुद्धता के साथ सोना और चांदी के आभूषणों, चांदी के बर्तनों और पदक चिन्हों की आपूर्ति करता है। प्रभु ने कहा कि गोल्ड फेस्टिवल में बजाय इसके कि स्वर्ण सिक्कों का आयात किया जाये, एमएमटीसी ने भारत सरकार के स्वामित्व वाली भारतीय स्वर्ण सिक्के को निर्मित कर उपभोक्ताओं की अपार सफलता के लिये शुभकामनायें दी है। बता दें कि एमएमटीसी बहुमूल्य धातु के उत्पादन के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ ब्रांड तो है ही साथ ही आभूषण के क्षेत्र में यह भारत सरकार की एकमात्र वृहद उद्यम भी है।   

 

 

  

दिल्ली में विभिन्न जगहों पर लगाई जा रही है स्वर्ण आभूषणों की  प्रदर्शनी 

इस गोल्ड फेस्टिवल के आयोजन का मुख्य उद्देश्य खुदरा विक्रय के माध्यम से कंपनी सस्ती कीमतों पर विभिन्न प्रकार के आभूषण और बहुमूल्य धातु के उत्पादों की पेशकश के सथ ग्राहकों को अपने वादे के साथ विश्वास की दृढ़ता प्रदान करना है।

इस गोल्ड फेस्टिवल का दीदार उपभोक्ता अशोका होटल के अलावा स्कोप कॉम्पलेक्स, लोधी रोड, क्रॉस रिवर मॉल, शहादरा और दिल्ली क्षेत्रीय कार्यालय झंडेवालान में भी कर सकते हैं । यहां पर भी इसकी प्रदर्शनी लगाई गई है। यहां भी ग्राहकों को स्वर्ण-आभूषण की विभिन्न प्रकार की वैरायटी देखने और खरीदने को मिलेंगी।   

(दिवाली विशेष कॉलम में डाइनामाइट न्यूज़ आपके लिए ला रहा है हर दिन दिवाली की नयी खबरें.. दिवाली से जुड़ी खबरों के लिए इस लिंक को क्लिक करें:https://hindi.dynamitenews.com/tag/Diwali-Special )

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …