कुंभ मेले को सुविधा संपन्न बनाने में जुटी सरकार, श्रद्धालुओं के लिये ऐप और वेबसाइट लांच

डीएन संवाददाता

यूपी की योगी सरकार अगले साल जनवरी में प्रयागराज इलाहबाद में आयोजित होने वाले कुंभ मेले को सुविधाओं के लिहाज से बेहतरीन बनाने के प्रयासों में जुटी हुई है। मोदी और योगी सरकार कुंभ मेले की संस्कृति, आध्यामिकता और परंपरा को तकनीक से जोड़कर इसे और ज्यादा सुविधा संपन्न बनाने जा रही है। पढें डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..


लखनऊ: अगले साल जनवरी में प्रयागराज इलाहाबाद में आयोजित होने वाले कुम्भ मेले को सफल, सुरक्षित और सुविधा संपन्न बनाने के लिये केंद्र और राज्य सरकार द्वारा कई तरह के नये प्रयास किये जा रहे हैं। श्रद्धालुओं को मेले की हर जानकारी आसानी से मुहैय्या कराने के लिये सीएम योगी और केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कुंभ मेला वेबसाइट और सोशल मीडिया ऐप को लांच किया।

यह भी पढ़ें: कृष्ण जन्माष्टमी का तोहफा.. सीएम योगी ने गोरखपुर-दिल्ली के बीच उड़ाया एक और विमान 

 

लोक भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में लांच किये गये मोबाइल ऐप और वेबसाइट के जरिये आम आदमी समेत हर श्रद्धालु को कुंभ की हर तरह की जानकारी प्राप्त कर सकेगा। कुंभ मेले को अभूतपूर्व सफलता दिलाने के लिये सरकार द्वारा एक बैठक की भी आयोजन किया गया, जिसमें कुंभ मेले को ज्यादा सुरक्षित, सफल और सुविधा युक्त बनाने की कार्य योजना तैयार की जा रही है। 

यह भी पढ़ें: इलाहाबादः काके भाई ने शुरू की ‘सीएम योगी थाली’, 10 रुपए में मिलेगा भरपेट भोजन 

कुंभ मेला मोबाइल ऐप को कुछ इस तरह डिजाइन किया गया है ताकि लोग कुंभ मेला स्थल पर चल रहे कार्यक्रम समेत और उसे प्रस्तुत करने वाले कलाकारों के बारे में भी पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकें। इसके अलावा यात्रा रूट, भीड़-भाड़, सुरक्षा, सुविधा, सूचना, स्नान, सावधानी समेत तमाम जरूरी जानकारी लोग एक ही क्लिक पर प्राप्त कर सकें। देश-विदेश के आने वाले यात्रियों के लिये जायादा फायदमंद होगी। कुंभ मेला ऐप के अलावा वेबसाइट पर मेले के महत्व समेत कई चीजों को दर्शाया जायेगा। इस वेबसाइट पर जाने के लिए www.kumbh.gov.in क्लिक करना होगा।

मोबाइल ऐप और वेबसाइट लांचिंग के मौके पर लोकभवन में रेल विभाग के कई अधिकारी समते योगी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी और गोपाल टंडन भी रहे। मौजूद 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार